वाराणसी, जेएनएन। मौसम विज्ञानियों के आशंकाओं के अनुरूप ही वातावरण में नमी का स्‍तर बढ़ते ही बादलों की सक्रियता का दौर शुरू हो गया है। बादलों की आवाजाही और तेज अंधड़ के बीच रात से ही रह रहकर हो रही बूंदाबांदी और दोपहर 12 बजे झमाझम बरसात ने गर्मी से जो राहत दी है वह अस्‍थाई है। बादलों की विदायी के बाद तापमान में दोबारा बदलाव होगा और बारिश की वजह से उमस भी बढ़ जाएगी। इसकी वजह से लोग पसीना- पसीना भी होंगे। मौसम विभाग ने हालांकि बारिश की उम्‍मीद नहीं जताई थी, बादलों की यह स्थिति लोकल हीटिंग और वातावरण में बढ़े नमी का परिणाम है। आने वाले दिनों में मौसम का रुख और तल्‍ख होगा।  

शुक्रवार की सुबह आसमान पूरी तरह बादलों की कैद में रहा, रात को अंधड़ और तेज हवाओं के बाद आसमान पूरी तरह बादलों की कैद में आ गया। कई इलाकों में मामूली बूंदाबांदी भी दर्ज की गई। जबकि तेज हवाओं की वजह से धूल भरी आंधी का अहसास हुआ। हालांकि, यह आंधी भी थोड़ी ही देर में थम भी गई। इसके बाद आसमान बादलों की कैद में रात भर बना रहा, कई इलाकों में इस दौरान बूंदाबांदी भी दर्ज की गई। सुबह काले बादलों ने मानसून सरीखा अहसास कराया। हालांकि, यह बादल छलावा ही साबित होंगे। क्‍योंकि नमी का अधिक स्‍तर न होने से बूंदाबांदी कराने के बाद यह लौट जाएंगे।  

बीते चौबीस घंटों में अधिकतम तापमान 40.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से दो डिग्री अधिक रहा, न्‍यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से तीन डिग्री अधिक रहा। आर्द्रता अधिकतम इस दौरान 56 फीसद और न्‍यूनतम 32 फीसद दर्ज की गई। मौसम विभाग की ओर से जारी सैटेलाइट तस्‍वीरों में पूर्वांचल में बादलों की सक्रियता और सघनता बनी हुई है। वातावरण में नमी का स्‍तर बना होने से बादलों की सक्रियता के बीच बूंदाबांदी भी हो रही है। लोकल हीटिंग का असर बना रहा तो आगे भी 24 घंटों तक बादलों की सक्रियता का दौर बना रहेगा। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021