आजमगढ़, जागरण संवाददाता। उत्तराखंड और नेपाल में हो रही अतिवृष्टि के कारण जिले के तहसील सगड़ी के देवारा क्षेत्र में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है। सरयू नदी में 21 अक्टूबर को 12 बजे तक सगड़ी क्षेत्र में पानी पहुंचने से बाढ़ की आशंका को देखते हुए विभागीय अधिकारियों को बचाव और राहत के लिए महुला गढ़वल बांध की बाढ़ चौकियों को एक बार पुन: सक्रिय कर दिया गया है। बाढ़ चौकियों पर तैनात अधिकारी व कर्मचारी सतर्क हो गए हैं। सरयू नदी के तटवर्ती गांवों के ग्रामवासियोें को भी सचेत कर दिया गया है कि वे डूबने वाले क्षेत्र में न जाएं।

प्रभारी अधिकारी आपदा (अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व) आजाद भगत सिंह ने बताया कि उत्तराखंड व नेपाल में हुई बारिश के कारण सरयू नदी के जलस्तर मेें वृद्धि होने की संभावना है। इसके अतिरिक्त इस समय 5,47,224 क्यूसेक पानी वनबसा बैराज शारदा नगर से और 2,29,667 क्यूसेक पानी घाघरा बैराज और 1,60,995 क्यूसेक पानी शारदा बैराज से छोड़ा जा रहा है। जिससे बाढ़ आने की संभावना प्रबल हो गई है। पानी के बहाव की गति को देखते हुए अधिशासी अभियंता बाढ़ खंड, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, एसडीएम सगड़ी एवं तहसीलदार के अलावा सरयू नदी केे तटवर्ती थाना महराजगंज एवं रौनापार को भी अलर्ट कर दिया गया है कि वे हर गतिविधियों पर सतर्क नजर रखते हुए अपने से संबंधित व्यवस्था सुनिश्चित करें।

बोले अधिकारी : ''आसन्न बाढ़ को देखते हुए महुला गढ़वल बांध पर स्थापित बाढ़ चौकियों को सक्रिय कर दिया गया है। बांध पर पुलिस की भी निगरानी बढ़ा दी गई है। ग्रामीणों को भी नदी क्षेत्र की तरफ न जाने के लिए सचेत करा दिया गया है। नजर रखी जा रही है। -गौरव कुमार, एसडीएम सगड़ी।

बोले अधिकारी : बारिश के कारण महुला गढ़वल बांध पर हुए रेनकट को भरा जा रहा है। रेगुलेटरों की भी निगरानी कराकर मिट्टी, बोरा सहित अन्य संसाधनों की व्यवस्था की ली गई है। विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को जिम्मेदारी दे गई है। -दिलीप कुमार, एक्सईएन बाढ़ खंड।

Edited By: Abhishek Sharma