बलिया, जागरण संवाददाता। उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि बलिया वीरों की धरती है। 2017 की आंधी तूफान बन गई है। तब सपा-बसपा गठबंधन भी था। नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री नहीं बने होते तो राम मंदिर नहीं बनता। गरीबों को मकान नहीं मिलता। 2022 में कमल खिलाना है। उपमुख्यमंत्री ने सोमवार को बलिया के सिकंदरपुर विधानसभा क्षेत्र में आयोजित पिछड़ा वर्ग सम्मेलन में कहा कि भाजपा को प्रचंड बहुमत मिलेगा। सभी विरोधी मिल जाएं तब भी 60 फीसद वोट हमारा है। 75 जिलों में महानगर की तरह बिजली मिलती है।

उन्होंने सपा मुखिया अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि 2012 में बलिया को शोषण मिला था। भाजपा सरकार में सबसे अधिक काम हुआ है। सपा 2022 का प्रयास बंद करे और 2027 की तैयारी शुरू करे। कमल खिलाने को लोग बेताब हैं। माफिया बूथ पर अब कब्जा नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने कुंभ में सफाई कर्मियों का सम्मान किया। बाबा विश्वनाथ के निर्माण करने वालाें पर फूल बरसाए थे। किसान सम्मान निधि देकर सम्मानित किया। पहले रुपये तहखाने में जाते थे। इत्र व्यापारी के घर से करोड़ों निकले।

सपा राम भक्तों पर गोली व लाठी चलवाती है। उन्होंने सवाल किया कि 2014 से पहले मंदिर कब गए थे, अब भगवान याद आ रहे हैं। लाल टोपी लगते हैं, जाली टोपी पैकेट में रखते हैं। हमारे लिए सभी लोग समान हैं। साइकिल खंड-खंड हो जाएगी। 25 साल तक सपा, कांग्रेस व बसपा मिल जाएं तब भी सत्ता में आना संभव नहीं है। सपा साइकिल से फार्च्यूनर पर आ गई है। हर परियोजना को कह रहे हमने शुरू किया, फिर हारे क्यों। गुंडों व माफियाओं से भाजपा ही लड़ सकती है। उन्हें डर हो गया है कि भाजपा फिर आ रही है। आप इसी तरह एकता बनाए रखें। भाजपा की जीत के बाद अखिलेश विदेश चले जाएंगे, राहुल पहले ही चले गए हैं।

इस दौरान डिप्टी सीएम ने 125 करोड़ रुपये से अधिक की लागत की परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया। चेतन किशोर मैदान में आयोजित सम्मेलन में भारी जुटी। उपमुख्यमंत्री का हेलीकाप्टर दोपहर 12 बजकर पांच मिनट पर मैदान में बने हेलीपैड पर उतरा। डिप्टी सीएम ने विधानसभा क्षेत्र में 53 करोड़ 11 लाख की लागत के विकास कार्यों का लोकार्पण व 72 करोड़ की लागत से होने वाले विकास कार्यों का शिलान्यास किया।

Edited By: Abhishek Sharma