वाराणसी, जेएनएन। प्रधानमंत्री के काशी आगमन पर अक्सर विरोध की योजना बनाते रहने वाले पूर्व सपा जिलाध्यक्ष सतीश फौजी का बेटा अजय यादव नरेंद्र मोदी के काफिले के आगे काला कपड़ा दिखाते हुए रविवार को अचानक कूद गया। वाराणसी के दौरे पर रविवार को जंगमबाड़ी से लौटते समय पीएम का काफिला जैसे ही लंका में रविदास गेट से आगे बढ़ा वैसे ही अजय यादव सुरक्षा कर्मियों के बीच से काफिले के आगे काला जैकेट और सपा का झंडा लहराते हुए सामने कूद गया। एसपीजी ने तत्काल धक्के देकर उसे किनारे किया। इसके बाद प्रशासन में जानकारी होते ही अफरातफरी मच गई। मौके से उसे गिरफ्तार कर लंका थाने पहुंचाया गया जहां सूचना मिलते ही एसएसपी सहित क्राइम ब्रांच की टीम भी पहुंच गयी।

पूछताछ में पुलिस से अजय यादव ने बताया कि मोदी सरकार में अपराध बढ़ गया है। बेरोजगारी के कारण युवा परेशान हैं इसका बिरोध करने के लिए ऐसा किया हूं। लंका थाने पहुंचे एसएसपी प्रभाकर चौधरी से भाजपा कार्यकर्ता अशोक पटेल, अभिषेक मिश्रा, शत्रुघ्न पटेल, अमित सिंह ने आरोपी के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की मांग की। वहीं सतीश फौजी ने पुलिस से बताया कि लड़का अर्धविक्षिप्त हो गया है जिसके कारण ऐसी हरकत किया। पुलिस के अनुसार अजय यादव और परिजनों के साथ ही कुछ अन्य सहयोग करने वालों की तलाश जारी है।

पहले भी ऐसी हरकतों से चर्चा में रहा है अजय

इसके पहले अजय यादव भेलूपुर थाने में जमकर हंगामा और दारोगा से मारपीट कर चुका है। उस समय तत्कालीन इंस्पेक्टर विपिन राय ने कार्रवाई की थी। प्रधानमंत्री के काफिले के सामने कूदने वाला आरोपी पूर्व जिलाध्यक्ष सतीश फौजी का बेटा अजय यादव इसके पहले नवंबर 2017 में प्रधानमंत्री के हाथ से लोकार्पण होने से पहले सामनेघाट पुल का फीता काट कर उद्घाटन करके सुर्खियों में आया था। पिता सतीश फौजी के खिलाफ एनएसए सहित कई धाराओं में बसपा सरकार में मुकदमा दर्ज किया गया था। प्रधानमंत्री के काफिले के सामने कूदने की जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा पर सवाल खड़ा हो गया। इसके पहले दुर्गाकुंड इलाके में पीएम के काफिले के सामने एक युवक काला झंडा लेकर कूद गया था।

Posted By: Abhishek Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस