वाराणसी, जेएनएन। परिषदीय विद्यालयों का तेजी से कायाकल्प हो रहा है। अब प्राइमरी विद्यालय तकनीकी से भी लैस हो रहे हैं। कोरोना महामारी के दौरान निजी स्कूलों की भांति सरकारी विद्यालयों में भी ऑनलाइन क्लास जारी है। यही नहीं परिषदीय विद्यालय इस वर्ष बच्चों का नामांकन भी ऑनलाइन कर रहे हैं। वहीं पिंडरा ब्लाक स्थित प्राथमिक विद्यालय (सैरागोपालपुर) में बच्चों का दाखिला ऑनलाइन टेस्ट के माध्यम से किया जा रहा। सूबे का संभवत: यह पहला प्राइमरी विद्यालय है जहां टेस्ट से बच्चों का दाखिला होता है।

विद्यालय के प्रधानाध्यापक मनोज ङ्क्षसह के मुताबिक सोमवार को कक्षा दो से पांच तक में दाखिले के लिए ऑनलाइन परीक्षा आयोजित की गई थी। परीक्षा में करीब 80 बच्चे शामिल रहें। सभी बच्चों से सामान्य ज्ञान से जुड़े प्रश्न पूछे गए थे। पहले चरण में 35 बच्चों का नामांकन ऑनलाइन हो चुका है। 

उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी को देखते हुए वाट्सएप ग्रुप बच्चों को जोड़कर वर्चुअल क्लास भी चलाया जा रहा है जिसमें न केवल बच्चों की शैक्षिक गतिविधि पर ध्यान रखा जाता है। ऑनलाइन क्लास में प्रतिदिन बच्चों की उपस्थिति दर्ज की जाती है। वहीं समय सारणी के अनुसार आडियो व वीडियो के माध्यम से भी बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। हेडमास्टर ने बताया कि इस वर्ष समर कैंप आयोजन भी ऑनलाइन किया गया है। प्रतिभागी बच्चों को कैंप का प्रमाण पत्र ऑनलाइन वितरित किया जाएगा।

50 फीसद नामांकन बढ़ाने का लक्ष्य

बेसिक शिक्षा विभाग ने परिषदीय विद्यालयों में इस वर्ष 50 फीसद बच्चों का नामांकन बढ़ाने का लक्ष्य रखा गया है। सत्र-2019-20 में परिषदीय विद्यालयों में पंजीकृत बच्चों की संख्या करीब 1.83 लाख थी। वहीं वर्तमान सत्र में 91500 नए बच्चों का दाखिला कराने का निर्णय लिया गया है। नामांकन बढ़ाने के लिए विभाग की नजर प्रवासी मजूदरों के बच्चों पर टिकी हुई हैं। अब तक करीब एक हजार बच्चों की लिस्ट तैयार कर ली गई है।

 

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस