चंदौली, जागरण संवाददाता। कोरोना की तीसरी लहर को लेकर नगर स्थित जिला संयुक्त चिकित्सालय में चाक-चौबंद व्यवस्था पूरी कर ली गई है। चिकित्सालय में पीडीयाईटी केयर यूनिट की स्थापना की गई है। साथ ही स्वतंत्र फीडर स्थापित कर 24 घंटे विद्युत आपूर्ति व्यवस्था सुनिश्चित कर ली गई है। कुशल चिकित्सक व कर्मचारियों को बकायदा प्रशिक्षित कर अप टू डेट कर दिया गया है।

कोरोना महामारी की तीसरी लहर से निपटने के लिए नगर स्थित जिला संयुक्त चिकित्सालय में पर्याप्त संख्या में चिकित्सक, कर्मचारी की उपस्थिति अनिवार्य करते हुए ऑक्सीजन बिजली व अन्य सुविधाओं से लैस कर दिया गया है। कोरोना की दूसरी लहर में हुई परेशानियों से सबक लेते हुए उन कमियों को दूर कर लिया गया है। कोरोना की पहली व दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए जिला संयुक्त चिकित्सालय में ऑक्सीजन का प्लांट स्थापित किए जाने के साथ ही चालू कर दिया गया है। कोरोना महामारी की संभावित तीसरी लहर को लेकर जिला प्रशासन, सीएमएस सहित तमाम स्वास्थ्य कर्मचारी मुस्तैद हैं।

ऑक्सीजन की क्षमता हुई दोगुनी : कोरोना महामारी की तीसरी लहर के मद्देनजर जिला संयुक्त चिकित्सालय ऑक्सीजन उत्पादन की क्षमता दोगुनी कर दी गई। है। साथ ही 65 अतिरिक्त सिलेंडर का स्टाक बनाया गया है। चिकित्सालय के तीनो तल पर आधा दर्जन वार्ड में 126 बेड की व्यवस्था की गई है। हर एक बेड पर मरीजों को पाइप लाइन से ऑक्सीजन सुलभ कराने की व्यवस्था है। दवाओं की आपूर्ति के लिए शासन व जिला प्रशासन को पत्र भेजा गया है। जो शीघ्र ही उपलब्ध हो जाएगा ।

चिकित्सक, कर्मचारी हुए अप टू डेट : चिकित्सालय के चिकित्सक सहित कर्मचारियों को बकायदा प्रशिक्षित कर अप टू डेट कर दिया गया है। आईसीयू, वेंटीलेटर आदि को दुरुस्त कर सुलभ ढंग से इलाज करने की व्यवस्था सुनिश्चित कर ली गई है। आपात स्थिति से निपटने के लिए आधा दर्जन चिकित्सक व एक दर्जन कर्मचारियों की ड्यूटी का खाका तैयार कर लिया गया है।कोरोना संक्रमित मरीज व उनके तीमारदारों को किसी प्रकार की परेशानी न हो इस पर विशेष ध्यान केंद्रित किया गया है।

पीडीआईटी यूनिट की हुई स्थापना : चिकित्सालय में पीडीयाईटी केयर यूनिट की स्थापना की गई है। ताकि कोरोना संक्रमित बच्चों का इलाज बेहतर ढंग से किया जाय। इसके लिए 20 बेड की अलग से स्थापना करके नोडल अधिकारी के रूप में बाल रोग विशेषज्ञ डाक्टर पवन कश्यप को नियुक्त किया गया है। पीडीआईटी केयर यूनिट में ऑक्सीजन बिजली दवा की मुकम्मल व्यवस्था कर ली गई है।

स्वतंत्र फीडर से 24 घंटे मिलेगी बिजली : चिकित्सालय में स्वतंत्र फीडर की स्थापना की गई है। खराब स्टार्टर ,केबल, बॉक्स आदि बदलने काम पूरा कर लिया गया है। ताकि 24 घंटे चिकित्सालय को बिजली उपलब्ध हो सके।

150 बेड अतिरिक्त मुहैया : कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए सौ सैय्या वाले संयुक्त चिकित्सालय में लगभग डेढ़ सौ अतिरिक्त बेड मंगा लिए गए हैं। जो आपात स्थिति में मरीजों के लिए उपयुक्त होंगे। बेड के अलावा गद्दा, तकिया, बेडशीट व अन्य संसाधन दुरुस्त कर लिया गया है।

बोले अधिकारी : कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए बिंदुवार समीक्षा करके संसाधन मुहैया कराए जा चुके हैं। किसी विशेष स्थिति से निपटने के लिए चिकित्सालय प्रशासन पूरी तरह कृत संकल्पित है। - डाक्टर अजय सिंह गौतम, सीएमएस, जिला संयुक्त चिकित्सालय चकिया।

Edited By: Abhishek Sharma