वाराणसी, जागरण संवाददाता। जल जीवन मिशन के अंतर्गत 'हर घर नल-हर घर जल' परियोजना का शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नवंबर 2020 में अपने वाराणसी दौरे के दौरान किया था। 427 करोड़ की इस परियोजना के प्रथम चरण में कुल 134 ग्राम पंचायतों में त्रिपक्षीय अनुबंध की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। इनमें से 131 का अनुबंध 24 -26 जुलाई को ही हो गया था, वहीं तीन ग्राम पंचायतों में मंगलवार को यह प्रक्रिया संपन्न हुई।

अनुबंध की प्रक्रिया को जल निगम, परियोजना निदेशक एलएनटी एवं ग्राम पंचायतों के सचिवों ने आपसी समन्वय से पूरा किया। ब्लाकवार आंकड़ों के मुताबिक आराजी लाइन में 25, सेवापुरी में 21, विद्यापीठ में पांच, पिंडरा में 24, बड़ागांव में 22, चोलापुर में 12, चिरईगांव गांव में 14 व हरहुआ में नौ स्थानों पर पानी टंकियों के निर्माण की प्रक्रिया को अंतिम रूप दिया जा चुका है। सभी विकास खंड मुख्यालयों पर एलएनटी ग्रुप द्वारा यह प्रक्रिया पूर्ण कराई गई। प्रथम चरण में चयनित ग्राम सभाओं में जल्द से जल्द काम शुरू होने की उम्मीद है।

भाजपा जिलाध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा ने कहा कि वाराणसी जनपद में पेयजल की समस्याओं का इतने बृहद स्तर पर समाधान होगा, यह पूर्ववर्ती सरकारों में केवल कल्पना का विषय था। मगर प्रधानमंत्री मोदी के कुशल नेतृत्व ने इसे मूर्त रूप दिया। वर्तमान में प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक जनपद में कुल 255 पानी की टंकियां बनने जा रही हैं। शहर ही नहीं बल्कि ग्रामीण क्षेत्र की संपूर्ण आबादी को इस योजना का लाभ मिलेगा। परियोजना निदेशक एलएनटी शमशेर आलम के मुताबिक जनपद में मार्च 2022 तक 40 फीसद काम को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। गांव में बेस का निर्माण कराकर कंपनी की ओर से फैक्टरी फिटेड टंकियों को स्थापित कर दिया जाएगा। दूसरे चरण में 121 ग्राम पंचायतों में जल्द ही औपचारिकताएं पूर्ण कर अनुबंध कराया जाएगा।

डा. महेंद्रनाथ पांडेय ने जताया आभार

केंद्रीय मंत्री एवं सांसद चंदौली डा. महेंद्र नाथ पांडेय ने चंदौली संसदीय क्षेत्र के वाराणसी अंचल में प्रथम चरण के तहत 35 जल निगम टंकियों के निर्माण की सैद्धांतिक अनुमति एवं अनुबंधों को अंतिम रूप प्रदान कराने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आभार जताया।

 

Edited By: Saurabh Chakravarty