जागरण टीम, उन्नाव : जिले में अचलगंज व आसीवन में दो महिलाओं का संदिग्धावस्था में फांसी पर लटका शव मिला। सूचना पर पहुंची पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है।

घटना एक : अचलगंज थाना क्षेत्र के निवासी कंधई का पुत्र दीपक  दिल्ली की एक निजी कंपनी में काम करता है। चार माह पूर्व गांव अपने घर वंदना नाम की 25 वर्षीय युवती को लेकर आया,  जिसे अपनी पत्नी बताया और  साथ-साथ काम करने के दौरान संबंध बनना बताया। चार महीने से दीपक अपनी नौकरी पर नहीं गया। पुलिस को दी गयी तहरीर में बताया कि उसे रविवार   विध्याचल मां के दर्शन को जाना था पत्नी ने सुबह खाना बनाया  और उसके घर से निकलने के बाद पत्नी वंदना घर से थोड़ी ही दूरी पर बड़े भाई सुशील के  घर  कपड़ा धोने गयी थी, जबकि भाई का परिवार खेत काटने गया था घर पर कोई नहीं था। वंदना के काफी देर बाद भी कपड़े धोकर न लौटी, परिजन उसे देखने सुशील के घर पहुंचे,  वहां कमरे की छत के कुंडे से साड़ी का  फंदा बनाकर वंदना लटकी पायी गयी। दीपक ने पुलिस को मृतका को टीकमगृढ मध्य प्रदेश के कुशवाहा परिवार की होना बताया है। इंस्पेक्टर अचलगंज आशुतोष त्रिपाठी ने जांच होने की बात कही है।

घटना दो : हसनगंज थाना क्षेत्र के बम्हनाखेड़ा गांव निवासी मथुरा प्रसाद ने दो वर्ष पूर्व पुत्री वंदना की शादी आसीवन थाना क्षेत्र के ग्राम जहांगीर नगर निवासी रज्जन के पुत्र रामनिवास के साथ किया था। उसके  छह माह की पुत्री खुशी है। पति रामविलास ने बताया कि शनिवार की शाम पत्नी वंदना खाना खाने के बाद बेडरूम में चली गयी। जबकि वह परिजनों के साथ छत पर शो गया। देर रात खटपट की आवाज पर  नीचे बेडरूम में झांक कर देखा तो वह आवाक राह गया। वंदना कमरे की छत में लगे पंखे से साड़ी के सहारे लटकी थी। जब तक उसे नीचे उतारते उसकी मौत हो गयी। वहीं जानकारी पर पहुंचे मृतका के पिता ने दहेज के लिए पुत्री की हत्या कर शव फांसी पर लटकाए जाने का आरोप लगाते हुए थाने में तहरीर दी। पुलिस ने पति, सास, ससुर, देवर व दो ननद सहित दो बुआ के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर शव पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। थानाध्यक्ष राजेश सिंह ने बताया की दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है।

Posted By: Jagran