जागरण टीम, उन्नाव : रविवार का दिन सड़क हादसों के नाम रहा। अलग-अलग जगहों पर हुई मार्ग दुर्घटनाओं में जहां हाईवे पर कुरियर कंपनी में इंटरव्यू देने जा रहे बाइक सवार युवक की मौत हो गई, वहीं बांगरमऊ में डीसीएम ट्रक ने बुजुर्ग को रौंद दिया। फतेहपुर चौरासी में बोलेरो की टक्कर से टेंपो पलट गई, जिसमें तीन महिलाओं समेत छह लोग घायल हो गए।

कानपुर-लखनऊ हाईवे पर अजगैन थाना क्षेत्र के कस्बा नवाबगंज के पास तड़के पांच बजे करीब रविवार सुबह बाइक को अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी। हादसे में कल्याणपुर कानपुर निवासी 40 वर्षीय सुशील कुमार यादव की मौत हो गई, जबकि बाइक सवार फुफेरा भाई नवीन यादव घायल हो गया। नवीन ने बताया कि उसने डीएचएल कुरियर कंपनी में जॉब के लिए फार्म डाला था। जिसका इंटरव्यू देने वह भाई सुशील के साथ गोमती नगर लखनऊ जा रहा था। नवीन ने बताया कि मृतक सुशील मूल रूप से विष्णुपुरी कालोनी नवाबगंज कानपुर के रहने वाले थे। उधर पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे परिजनों ने बताया कि मृतक सुशील अकबरपुर के राजकीय डिग्री कालेज लिपिक पद पर तैनात था। उसके दो बच्चे 14 वर्षीय प्रतीक और 4 वर्षीय बेटी सांभवी है। पत्नी अंकिता का रो-रोकर बुरा हाल रहा।

घटना दो : बांगरमऊ नगर के लखनऊ रोड तिराहे पर रविवार सुबह तेज रफ्तार डीसीएम ने साइकिल सवार इसी कोतवाली क्षेत्र के ग्राम मुस्तफाबाद निवासी 58 वर्षीय वृद्ध विजय द्विवेदी को रौंद दिया। घटनास्थल पर उनकी मौत हो गई। मृतक नगर की गुरुप्रसाद की मिल में खाना बनाने का काम करता था। बुजुर्ग की मौत से उसकी पत्नी नीलम और बच्चे बदहवास हो गए। परिजनों के अनुसार बुजुर्ग को नगर में आसरा आवास योजना के तहत आवास मिला था, जिसमें चल रहे निर्माण कार्य को वह देखने के लिए साइकिल से जा रहा था। वहीं फतेहपुर चौरासी थाना क्षेत्र के हुलासी कुआं-गौरिया कला मार्ग पर शकूराबाद गांव के समीप रविवार सुबह बोलेरो ने टेंपो को टक्कर मार दी। तेज टक्कर लगने से टेंपो पलट गई। हादसे में इसी थाना क्षेत्र के पट्टी उस्मान गांव निवासी 50 वर्षीय सरवरी पत्नी मेहंदी हसन, 30 वर्षीय बेटी शाहीन, दामाद शफीक, भतीजी सोनी व तकिया के सरांय गांव निवासी टेंपो चालक एजाज घायल हो गए। सभी को सीएचसी ले जाया गया, जहां से सरवरी को गंभीर हालत में जिला अस्पताल रेफर किया गया है।

Posted By: Jagran