जागरण संवाददाता, उन्नाव : रेलवे की बड़ी लापरवाही सोमवार को कानपुर-लखनऊ रेल रूट पर देखने को मिली। मालगाड़ी का गेट खुला होने से कुसुंभी-जैतीपुर के मध्य वह ओएचई पोल से जा टकराया। जोरदार टक्कर की वजह से पोल टेढ़ा हो गया और ओएचई तहस-नहस हो गई। घटना के बाद अप और डाउन की ट्रेनों को आनन-फानन रोका गया। घटना की जानकारी पर पहुंचे टीआरडी के कर्मचारियों ने पोल सीधा कराते हुए ओएचई ठीक की। ट्रेनों को 20 किमी प्रति घंटा के कॉशन से चलाया गया।

घटना सोमवार शाम करीब साढ़े पांच बजे कुसुंभी और जैतीपुर रेलवे स्टेशन के मध्य हुई। कानपुर से लखनऊ जा रही मालगाड़ी वैगन का एक दरवाजा खुला था। जो कुसुंभी के पास ओएचई पोल से जा टकराया। ट्रेन में गति होने से ओएचई का पोल टेढ़ा होने से ओएचई क्षतिग्रस्त हो गई। डाउन ट्रैक पर हुई घटना के बाद कानपुर-लखनऊ रूट की ट्रेनों पर ब्रेक लग गया। परिचालन कंट्रोल को घटना का पता चला तो उसने आनन-फानन टीआरडी के सीनियर सेक्शन इंजीनियर को मौके से भेजा। उन्नाव से आरपीएफ प्रभारी निरीक्षक श्रीनिवास मिश्रा ने फौरन स्टाफ को घटनास्थल भेजा। पोल को सीधा कराते हुए ओएचई को दुरुस्त कराया गया। देर शाम 6:44 मिनट पर रेल यातायात कॉशन पर सुचारू हो सका था। घटना को लेकर डीआरएम सतीश कुमार ने जांच शुरू करायी है। रेलवे के अधिकारियों का कहना था कि मालगाड़ी का वैगन जांचने की जिम्मेदारी ठहराव स्टेशनों पर होती है। फिलहाल, ओएचई दुरुस्त कराते हुए ट्रेनों को 20 के कॉशन से रवाना किया गया।

Posted By: Jagran