मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, उन्नाव : ठेकेदार को लूटने के प्रयास में लगे तीन शातिर बदमाशों को स्वाट टीम के साथ कोतवाली पुलिस ने दबोच लिया। गिरफ्तार किए बदमाशों के पास से दो बाइक और अवैध असलहे बरामद किए गए। पकड़े गए बदमाशों के खिलाफ लखनऊ और उन्नाव के थानों में संगीन अपराध के मुकदमे दर्ज हैं। एसपी ने पुलिस टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

सदर कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत ग्राम गढ़ी निवासी नूर नबी पुत्र मैनुदीन भवन निर्माण का काम करता है। सात जुलाई को नूर नबी ने मोतीनगर एसबीआइ शाखा से मजदूरों को रुपये देने के लिए 1.50 लाख रुपये निकाले। इस दौरान उसके साथ लूट करने के लिए कामिल पुत्र हनीफ निवासी मलवा झलवा तालिब सराय, समीर पु्त्र मुमताज निवासी शांतिनगर पटरी, शमी अहमद उर्फ फुर्ती पुत्र नबी अहमद निवासी गंजमुरादाबाद ने पीछा किया। काफी दूर तक ठेकेदार का पीछा किया गया। किसी तरह ठेकेदार ने खुद को बचाया और कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया। इस पर एएसपी ने स्वाट टीम और कोतवाली पुलिस को बदमाशों की धरपकड़ के निर्देश दिए। पुलिस टीम ने शुक्रवार को लखनऊ-कानपुर हाईवे के पास से तीनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। इनके कब्जे से दो बाइक और दो तमंचा 315 बोर और एक तमंचा 12 बोर मय कारतूस बरामद किया गया। एएसपी विनोद पांडेय ने बताया कि बदमाशों को पकड़ने वाली पुलिस को टीम को नकद पुरस्कार दिया जाएगा। पकड़े गए बदमाशों के खिलाफ आ‌र्म्स एक्ट सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया। कोतवाली प्रभारी दिनेश चंद्र मिश्रा के मुताबिक कामिल पर पांच, समीर पर पांच और शमी अहमद पर सात मुकदमे लखनऊ और उन्नाव के विभिन्न थानों में दर्ज हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप