जागरण संवाददाता, उन्नाव: जिला कारागार में बंद भाइयों को राखी बांधने के लिए बहनों को विरोध दर्ज कराना पड़ा। कारागार प्रशासन ने मिलाई कराने से साफ इन्कार कर दिया। जिसके विरोध में बहनों ने मोर्चा खोल एकजुट होकर डीएम से मिल मिलाई कराने की मांग की। डीएम ने बहनों की भावनाओं को गंभीरता से लेते हुए कारागार अधीक्षक को मिलाई कराने का निर्देश दिया। तब उन्हें भाइयों को राखी बांधने का मौका दिया गया। गुरुवार को रक्षाबंधन के लिए सैकड़ों की संख्या में बहनें सुबह ही कारागार पहुंच गई, लेकिन जेलर ने स्वाधीनता दिवस के कारण मिलाई पर रोक की पूर्व घोषित सूचना देकर मिलाई कराने से इन्कार कर दिया। इससे गुस्साई बहनों ने कारागार गेट के सामने हंगामा शुरू कर दिया, लेकिन जब जेल प्रशासन ने उनकी नहीं सुनी तो वह एकजुट हो डीएम के पास पहुंची। डीएम देवेंद्र पांडेय ने कारागार अधीक्षक को स्पेशल मिलाई कराने का निर्देश दिया। तब बहनें कारागार में बंद भाइयों को राखी बांध पाई। बहनों ने रक्षासूत्र बांधा तो भाइयों की आंखों में विवशता के आंसू छलक आए। तोहफे के रूप ने उन्होंने बहनों को अपराध से दूर रहने का वचन दिया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप