जागरण संवाददाता, उन्नाव : जिला महिला और पुरुष अस्पताल में सेल्फ प्रोटेक्शन के लिए मास्क, ग्लब्स, सैनिटाइजर, हेयर कैप आदि की कमी चल रही है। स्वास्थ्य कर्मी स्वयं खतरे में रहकर रोगी सेवा कर रहे हैं। विभाग खरीद नहीं कर पा रहा है। कोरोना फाइटर्स को सेल्फ प्रोटेकशन की सामग्री दिलाने के लिए 'जागरण' ने पहल की। गुरुवार को विभिन्न संगठनों के सहयोग से सामग्री मंगवाकर स्वास्थ्य कर्मियों में एडीएम से दोनों अस्पतालों की इंचार्ज सिस्टर्स को प्रोटेक्शन सामग्री का वितरण कराया।

बजट के अभाव और खरीद की जटिल प्रक्रिया के कारण अस्पताल प्रशासन स्वास्थ्य कर्मियों को पर्याप्त सेल्फ प्रोटेक्शन सामग्री नहीं दे पा रहा है। इसकी जानकारी होने के बाद जागरण कोरोना फाइटर्स स्वास्थ्य कर्मियों की सुरक्षा को लेकर चिता की। शब्द शुद्धि गंगा अभियान, कायस्थ वेलफेयर सोसायटी, राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद और यूपी पब्लिक मेडिकल हेल्थ मिनिस्टीरियल एसोसिएशन को कोरोना फाइटर्स स्वास्थ्य कर्मियों को खतरे से बचाने में सहयोग के लिए प्रेरित किया जिस पर उक्त संगठनों के लोगों ने सैनिटाइजर, ग्लब्स, मास्क, हेयर कैप आदि सामग्री मांगा जागरण को सौंपी। जागरण टीम ने गुरुवार को उक्त संगठनों के पदाधिकारियों मिनिस्टीरियल एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष प्रेम कुमार सिंह सेंगर, कर्मचारी परिषद अध्यक्ष उमा निवास बाजपेई, कायस्थ वेलफेयर सोसाइटी के सचिव नीरज निगम और प्रांतीय रक्षक दल के सिकंदरपुर कर्ण कमांडर दीप कुमार मिश्र दीपू, सरदार मनिदर सिंह के साथ एडीएम राकेश सिंह और एसीएमओ डॉ. आरके गौतम ने पुरुष अस्पताल के दोनों वार्ड, महिला अस्पताल वार्ड, ओटी और लेबर रूम की इंचार्ज सिस्टरों को सैनिटाइजर, ग्लब्स, मास्क, हेयर कैप आदि वितरित किया। एडीएम ने जागरण की पहल को सराहते हुए कहा कि स्वास्थ्य विभाग का डॉक्टर हो या छोटा कर्मचारी सभी कोराना फाइटर्स हैं उनकी सुरक्षा के लिए जो भी सामग्री कम होगी दी जाएगी। वह निष्ठा के साथ अपनी सेवा में लगे रहें।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस