मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, उन्नाव : घर की दहलीज पर इलाज देने के लिए सरकार द्वारा चालू की गई नेशनल मोबाइल मेडिकल यूनिट को डीएम ने जिला अस्पताल से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। पहले दिन मोबाइल अस्पताल की टीम ने फतेहपुर चौरासी ब्लाक के सथरा गांव पहुंच मरीजों का परीक्षण किया। दहलीज पर मोबाइल अस्पताल देखकर ग्रामीण भी खुशी से झूम उठे। मोबाइल अस्पताल के चिकित्सक ने मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें दवा दी और पंद्रह दिन बाद फालोअप चेकअप करने को कहा। इस स्वास्थ्य सेवा को लेकर ग्रामीणों उत्साह नजर आया।

डीएम देवेंद्र कुमार पांडेय ने बुधवार को जिला अस्पताल से राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत जिले को मिली नेशनल मोबाइल मेडिकल यूनिट के वाहन को रवाना करते समय कहा कि दूरस्थ एवं असेवित ग्रामों में लोगों को अब इलाज के लिए किराया भाड़ा लगाकर दौड़ भाग नहीं करनी पड़ेगी। एक माह में दो बार एक गांव पहुंच मोबाइल यूनिट की मेडिकल टीम मरीजों का परीक्षण कर निश्शुल्क जांच, उपचार व दवा की सुविधा देगी। जो गंभीर मरीज मिलेंगे उनकी पहचान कर उच्च केंद्रों पर उपचार के लिए भेजा जाएगा। सीएमओ डॉ. लालता प्रसाद ने बताया कि मोबाइल मेडिकल यूनिट में मरीजों के रक्त की जांच, उपचार, ऑक्सीजन, बीपी और अन्य उपकरणों की सुविधा भी है। यह टीम सुबह 9 से सायं 5 बजे तक स्वास्थ्य परीक्षण करेगी। उन्होंने बताया कि इस सुविधा के लिए सरकार ने सेवा प्रदाता एजेंसी मेसर्स केएचजी हेल्थ सर्विसेज हैदराबाद तेलांगना से अनुबंध किया है। सीडीओ प्रेमरंजन सिंह, सीएमएस डॉ. मेवालाल, एसीएमओ डॉ. आरके गौतम, प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. नरेन्द्र सिंह, उमा निवास वाजपेयी, जिला स्वास्थ्य शिक्षा सूचना अधिकारी लालबहादुर यादव, सुरेश गौतम, मन्निदर सिंह आदि उपस्थित रहे।

------------------

यह रहेगा स्टाफ

- मोबाइल मेडिकल यूनिट में डॉ. अजय सिन्हा, आदित्य राजपूत फार्मासिस्ट, विनीत लैबटैक्नीशिएन, स्टाफ नर्स नीतू की तैनाती है। मोबाइल अस्पताल वाहन का चालक मनोज कुमार की तैनाती की गई है।

------------------

पहले चरण में आठ ब्लाकों में जाएगी टीम

- पहले चक्र में 16 में से आठ ब्लाकों फतेहपुर चैरासी, सिकंदरपुर सरोसी, सफीपुर, बांगरमऊ, गंजमुरादाबाद, मियागंज, औरास एंव पुरवा के 12-12 दूरस्थ ग्रामों में मोबाइल मेडिकल यूनिट को भेजने का रूट प्लान तय किया गया है।

------------------

सीएमएसडी से मिलेगी दवा

- मोबाइल मेडिकल मोबाइल यूनिट को दवाएं सीएमओ के अधीन जिला सीएमएसडी स्टोर से दी जाएंगी। निर्धारित ग्राम में पहुंचने की तिथि का आशा और एएनएम प्रचार-प्रसार कर लोगों को मोबाइल मेडिकल यूनिट से मिलने वाली सेवाओं की जानकारी देंगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप