संवाद सहयोगी, सफीपुर : शासन से नामित नोडल अधिकारी ने क्वारंटाइन सेंटर का औचक मुआयना कर व्यवस्थाओं की हकीकत जानी। क्वारंटाइन सेंटर महात्मा गांधी इंटर कालेज और जीजीआईसी गर्ल कालेज में साफ-सफाई के साथ भोजन की गुणवत्ता में सुधार के निर्देश दिए गए। इस दौरान तहसील कार्यालय में संचालित कंट्रोल रूम में तैनात कर्मचारी नोडल अफसर का कोई जवाब नहीं दे सका। कम्यूनिटी किचन में गंदगी देखकर तहसीलदार रश्मि सिंह को फटकार लगाते हुए कार्रवाई की चेतावनी दी।

प्रवासी मजदूरों को अन्य राज्यों से लाकर क्वारंटाइन सेंटर में रखा जा रहा है। शासन से नामित नोडल अधिकारी अनिल सिंह शुक्रवार को कस्बा के जीजीआइसी गर्ल इंटर कालेज क्वारंटाइन सेंटर का औचक निरीक्षण करने जा पहुंचे। परिसर में नोडल अधिकारी की गाड़ी देख कर्मचारियों मे हड़कंप मच गया। सेंटर प्रभारी केके तिवारी मौजूद मिले। नोडल अधिकारी ने प्रवासी मजदूरों से बात कर किचन का निरीक्षण करके खाने की गुणवत्ता जानी। प्रभारी को प्रतिदिन मजदूरों के कमरों में सैनिटाइज करने के निर्देश दिया। क्वारंटाइन सेंटर महात्मा गांधी इंटर कॉलेज से 14 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन के लिए घर भेजे गए सलीन्द निवासी प्रवासी मजदूर रमेश के घर जाकर उसके स्वास्थ्य और राशन किट की जानकारी ली। इसके बाद महात्मा गांधी इंटर कालेज मे संचालित किचन का निरीक्षण कर कमरे में जमा कालेज का कबाड़ देख नाराजगी व्यक्त करते हुए सेंटर प्रभारी ईओ डा. अनुपम सिंह से तत्काल हटवाने के निर्देश दिया। इसके बाद नोडल अधिकारी तहसील में बने कंट्रोल रूम का निरीक्षण करने जा पहुंचे। वहां तैनात कर्मचारी शिव प्रकाश से क्षेत्र से आने वाली सूचनाओं की जानकारी मांगी तो बंगले झांकने लगे जिस पर कार्यवाही की चेतावनी दी। तहसील परिसर मे संचालित कम्युनिटी किचेन में गंदगी देख कर किचेन प्रभारी तहसीलदार रश्मि सिंह को कड़ी फटकार लगाकर कार्यवाही के संकेत देते हुए तत्काल साफ-सफाई करा कर वाट्सएप पर फोटो भेजने के निर्देश दिया। कम्युनिटी किचन कब से चल रहा इसका जवाब तहसीलदार रश्मि सिंह नहीं दे पाईं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस