जागरण संवाददाता, उन्नाव : गो-सेवा आयोग सदस्य कृष्ण कुमार सिंह भोले ने जनपद के तीन गोशालाओं का निरीक्षण किया। यह निरीक्षण उन्हीं गोशालाओं में किया गया। जहां कि शासन से आने वाले उच्चाधिकारी भी जाकर संतुष्ट हो जाते हैं। इसी प्रकार गो-सेवा आयोग सदस्य भी संतुष्ट दिखाई दिए। सदस्य ने जानकारी दी कि गोशालाओं में प्रशासन द्वारा की गई तैयारियां दुरुस्त और बेहतर हैं। सदस्य को यहां मवेशियों की कमी, शेड विहीन विचरण और निवास, चारे पानी की कमी के अलावा गोवंशों का कमजोर स्वास्थ्य नहीं दिखाई पड़ा।

गो संरक्षण, संवर्धन के लिए जिले में फिलहाल बनाई गईं 105 गोशालाएं बिलकुल उचित काम कर रही हैं। यह जानकारी गो सेवा आयोग सदस्य को महज दो गोशालाओं के निरीक्षण में मिल गई। गो सेवा सदस्य ने भी वही गोशालाएं देखी हैं। जो हर बार शासन से आने वाले उच्चाधिकारियों को दिखाई जाती है। यानी जिले की अन्य 102 गोशालाएं निरीक्षण योग्य नही हैं। वरना प्रशासन हर निरीक्षणकर्ता को उन्हीं गिनी चुनी गोशालाओं का निरीक्षण क्यों करवाता। सदस्य ने बुधवार को नवाबगंज की रुदवारा और नौदहा का निरीक्षण किया। सदस्य के अनुसार जहां सारी व्यवस्थाओं के साथ पशु भी हष्टपुष्ट दिखाई दिए हैं। जो कमजोर हैं। उनको भी मिल रही बेहतर व्यवस्था का संज्ञान दिलाकर स्वस्थ्य होने की जानकारी सदस्य ने दी। गोशाला निरीक्षण के बाद विकास भवन सभागार में अफसरों की बैठक ली। जहां कृषि विभाग को अस्थाई व्यवस्था के तहत चरही और बैरीकेटिग, जिला पंचायतीराज को पानी व बिजली का प्रबंध करने के निर्देश दिए। बैठक में डीपीआरओ ने सदस्य को बताया कि 105 गोशालाएं बनवाए जाने के बाद शासन ने ग्राम निधि खाते के धन का प्रयोग करने पर रोक लगा दी। इस पर सदस्य ने प्रधानों की कमाई से गो वंशों की व्यवस्था कराए जाने के लिए कहा। सदस्य ने मण्डी परिषद से कहा कि अपने यहां किसी एक दुकानदार को चिन्हित कर दें। जो शाम के समय हर दुकान के आगे दुकानदारों द्वारा छोड़ी गई विभिन्न प्रकार की सब्जियों को एकत्र करके गोशालाओं तक पहुंचाने का प्रबंध करे। इस काम में परिषद के अधिकारी भी सहयोग करें। बैठक में सीवीओ प्रदीप कुमार सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

------------------

31 अगस्त को थाना गो-संरक्षण केन्द्र का उद्घाटन

- मुख्य विकास अधिकारी प्रेमरंजन सिंह ने सदस्य को बैठक में जानकारी दी कि निर्माणाधीन थाना गांव का गो-संरक्षण केन्द्र जल्द ही उद्घाटन के लिए तैयार हो जाएगा। बताया कि पूरी संभावना है 31 अगस्त को संबधित संरक्षण केन्द्र का उद्घाटन कर दिया जाएगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप