जागरण संवाददाता, उन्नाव : दिल्ली के निजामुद्दीन की तबलीगी मरकज से निकले जमातियों के कारण बढ़े कोरोना वायरस के संक्रमण से अब सरकार बेहद संजीदा है। जमातियों के द्वारा संक्रमण रोकने में कोई सहयोग न किए जाने पर गंभीर सरकार ने जिलों को सचेत किया गया है। अधिकारियों को निर्देश हैं कि जमातियों के नेटवर्क को खंगाल कर पता करें कि कितने लोग जमात में शामिल होने के लिए गए और वहां से कितने जिलों में आए। उन्नाव पुलिस भी इसको लेकर संजीदा है। जमात के नेटवर्क को खंगालने के लिए इलाकाई पुलिस के अलावा खुफिया अलर्ट भी है। जिले में जमात से जुड़ी मस्जिदों और वहां बाहर से आने वालों की टोह ली जा रही।

दिल्ली के तबलीग मरकज में शामिल होने वाले जमातियों की तलाश पूरे प्रदेश में की जा रही है। उन्नाव भी इससे अछूता नहीं है। कुरसठ के जिन दो लोगों को आइसोलेट कर परीक्षण कराया था उनसे भी पूछताछ की गई लेकिन जमात में शामिल होने कितने लोग गए थे या वहां से जमात के लोग भेजे गए हैं इसकी उनके द्वारा कोई जानकारी नहीं दी गई। कानपुर और गाजियाबाद में आइसोलेट किए गए जमातियों के द्वारा असहयोग करने के साथ जिस तरह से स्वास्थ्य कर्मियों के साथ बदमिजाजी की गई उससे संदेह अधिकारियों को संदेह है कि जिले में मिले जमातियों के द्वारा हो सकता है कुछ छिपाया जा रहा है। ऐसे में सर्विलांस की मदद के साथ पुलिस के आला अधिकारी खुफिया की भी मदद ले रहे है जिससे कि जिले में जमातियों के नेटवर्क को खंगाला जा सके।

-----------

संदिग्ध चिहित करके होगी निगरानी

खुफिया की मदद से जमात से जुड़े संदिग्धों को चिहित करके उनकी निगरानी की जाएगी जिससे कि उनके द्वारा कोई बेजा हरकत न की जा सके। अगर उनकी गतिविधियां कोरोना वायरस के खिलाफ सरकार की जा रही कवायद के खिलाफ प्रतीत होती हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई करने में देर नहीं की जाएगी।

-----------

शहर की एक मस्जिद से जमाती गतिविधियां

खुफिया जांच में सामने आया है कि जिले में जमात की गतिविधियों का जिम्मा दो व्यक्तियों के हाथ में होती जिनमे एक अमीर और दूसरा निगरा होता। शहर की एक मस्जिद से उनकी गतिविधियां संचालित होतीं। एसपी विक्रांत वीर के मुताबिक दिल्ली के निजामुद्दीन के तबलीगी मरकज से आने वालों की तलाश की जा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस