जागरण संवाददाता, उन्नाव : पहाड़ी क्षेत्रों में बने विक्षोभ के कारण पिछले तीन दिनों से बारिश का सिलसिला जारी है। बुधवार रात से गुरुवार सुबह तक 10 घंटे की बारिश ने शहर की गलियों से लेकर गांव के गलियारों तक में पानी भर दिया। वहीं मूसलाधार बारिश से सड़क पर दो घंटे तक खासा सन्नाटा रहा। लोग जहां थे वहीं पर खड़े रहे। घरों से निकलने में लोग हिम्मत न कर सके। सबसे बुरी दशा उन मोहल्लों के लोगों की रही जहां पर गड्ढायुक्त सड़क है या फिर सड़क बनी नहीं है। इन मोहल्लों में लोग घरों में कैद रहे। 10 घंटे में 40 एमएम बारिश दर्ज की गई।

पूर्व की हवा का दबाव बनने से आसमान पर बादलों का डेरा है। पिछले 24 घंटे के भीतर जोरदार बारिश ने लोगों को उमस से खासी राहत दे दी है, लेकिन जलभराव से उनकी परेशान बढ़ गई है। वहीं तापमान में पांच डिग्री की गिरावट पिछले तीन में दर्ज की गई है। अधिकतम तापमान 32 डिग्री और न्यूनतम तापमान 23 डिग्री रहा। यह सामान्य से दो डिग्री कम रही। बुधवार रात से बारिश का शुरू हुआ दौर गुरुवार को भी जारी रही। सुबह चार से 11 बजे तक जोरदार बारिश ने हर जगह जलभराव कर दिया। शहर में कोई ऐसा मोहल्ला नहीं बचा जहां पर बारिश का पानी न भरा हो। जलभराव होने से लोगों के घरों में भी पानी घुस गया। तालिब सराय, पत्थर कालोनी, कंजी, अकरमपुर में बाढ़ जैसे हालात दिखे। सड़क पर चार फुट तक पानी भरा होने से लोग घर से निकल नहीं सके। कृष्णापुरम, ओमनगर, कब्बाखेड़ा, पूरन नगर में भी जलभराव होने से लोग परेशान रहे। कृष्णापुरम में कच्ची सड़क होने से लोग घरों के भीतर कैद होने को मजबूर है। अभी तक पालिका प्रशासन ने इस पर नजर करने की जरूरत नहीं समझी है।

-----------------

स्कूली बच्चों को हुई परेशानी

- जोरदार बारिश से स्कूली बच्चों को स्कूल जाने में खासी दिक्कत हुई। बच्चे भीगते हुए स्कूल पहुंचे, किसी भी स्कूल में रेनी डे घोषित न होने से बच्चों में मायूसी भी दिखी। सरकारी स्कूलों का हाल यह रहा कि परिसर में पानी भरने से बच्चों की संख्या बहुत कम रही। शहर के अधिकतर स्कूलों में पानी भरा रहा जिससे शिक्षक-शिक्षिकाओं को भी दिक्कत हुई।

-----------------

मरीज भी हुए परेशान

- जोरदार बारिश से जिला अस्पताल आने वाले मरीज भी भीगते हुए पहुंचे। अस्पताल के पर्चा काउंटर पर भीगते हुए लोगों ने पर्चा बनवाया। वहीं पैथालॉजी में भी खासी भीड़ रही। अस्पताल में संक्रामक रोग और बुखार से पीड़ित अधिक मरीज आए।

-----------------

तीन दिन में 80 एमएम बरसा पानी

- मंगलवार से लेकर गुरुवार तक जिले में 80 एमएम बारिश दर्ज की गई। हर जगह जोरदार बारिश हुई, बारिश से किसानों के चेहरे खिले हुए हैं लेकिन सब्जी किसान परेशान हैं। अधिक बारिश से सब्जी की फसलों को नुकसान होने से संभावना है।

-----------------

- पूर्व की हवा का दबाव बना हुआ है, साथ ही विक्षोभ भी कारगर है इस कारण जोरदार बारिश हो रही है। शुक्रवार को भी बारिश होगी वहीं दोपहर बाद हल्की धूप निकलने की संभावना है।

- डॉ. जेपी गुप्ता, निदेशक मौसम विभाग

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप