जागरण संवाददाता, उन्नाव : उत्तर की हवा ने भीषण गर्मी से लोगों को हिलाकर रख दिया है। हाल यह है कि न दिन को चैन मिल रहा और रात में नींद। कमरों में कूलर चलने के बाद भी गर्मी कम नहीं हो रही है। घर की दीवारें धधक सी रही हैं। ऐसे में लोगों का गर्मी पसीना निकाल रही है। हालांकि जिस तरह के मौसम के हालात है कि उससे आंधी की संभावना बनी हुई है लेकिन राहत मिलने की कोई उम्मीद नहीं है।

जेठ में गर्मी का प्रचंड रूप दिख रहा है। उत्तर और पश्चिम की हवा के अंसुलन से लोगों का बुराहाल है। कभी नमी बढ़ जाती है तो कभी मौसम शुष्क होने से लू के थपेड़े लोगों के शरीर को झुलसाते हैं। सूर्य की यूवी रेज का प्रभाव इस समय सबसे अधिक है जिस कारण त्वचा को खासा नुकसान पहुंच रहा है। गर्मी के कारण पशु-पक्षी भी बेहाल हैं। शुक्रवार को सुबह से ही भीषण गर्मी पड़ी। सुबह 9 बजे तापमान 35 डिग्री के पार हो गया। ऐसे में सुबह से ही सूर्य की तपिश लोगों को परेशान करने लगी। दोपहर में तापमान 44.4 डिग्री रहा, लू इस कदर चली की लोग सड़क पर निकलने की हिम्मत नहीं कर सके। लू की गर्म हवा ने लोगों को पसीने से तरबतर कर दिया। जानवर भी इस लू से परेशान रहे। सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। लोग शाम होने के बाद सड़क पर निकले।

------------

तीन सालों में सबसे अधिक गर्म

पिछले तीन सालों में 24 मई को खासा गर्म दिन रहा। रात में भी लोगों को गर्मी सहनी पड़ रही है। हालांकि पिछले साल 24 मई को न्यूनतम तापमान 32 रिकार्ड किया गया था।

वर्ष-------अधिकतम तापमान----न्यूनतम तापमान

2019--------44.4 डिग्री------------30 डिग्री

2018--------43 डिग्री--------------32 डिग्री

2017--------43 डिग्री--------------24 डिग्री

2016--------37 डिग्री--------------23 डिग्री

-------------------

रात में आंधी के बाद हुई बूंदाबांदी

गुरुवार रात को जब तापमान अधिक बढ़ा तो आंधी आयी लेकिन हवा की रफ्तार 24 किमी प्रतिघंटा से अधिक नहीं रही। उसके बाद बूंदाबांदी होने से कुछ रेद के लिए तो राहत मिली लेकिन जैसे ही बूंदाबांदी व हवा का चलना बंद हुआ, उमस ने लोगों को पसीना पोछने पर विवश कर दिया। पूरी रात लोग उमस से बेहाल रहे।

-------------------

डायरिया के 13 मरीज हुए भर्ती

जिला अस्पताल में शुक्रवार को डायरिया के 13 मरीज भर्ती किए गए। अस्पताल में हर दिन संक्रामक रोग से बीमार आ रहे है। औसतन 300 से अधिक मरीज अस्पताल में देखे जा रहे है। शुक्रवार को डायरिया से पीड़ित शिवानी (14) पुत्री जगदीश निवासी गदनखेड़ा, गुड़िया (30) पत्नी राकेश निवासी भदियार, रईसा (55) पत्नी मो हनीफ निवासी तालिब सराय, चंदाकली (45) पत्नी राम अवतार निवासी रामनगर, रईस (11) पुत्र नसीरुद्दीन निवासी वसीम नगर, नादिया (17) पुत्री मो बशीर निवासी तकी नगर, प्रेरणा (14) पुत्री बृजेश निवासी शिव नगर, छेदी (60) निवासी शिव नगर को भर्ती किया गया।

Posted By: Jagran