संवाद सूत्र, मौरावां : आवारा मवेशियों से फसलों की रात दिन रखवाली कर आजिज आ चुके किसानों ने शुक्रवार की सुबह करीब दो सैकड़ा आवारा मवेशियों को इकट्ठा कर गांव के प्रायमरी स्कूल में बंद कर दिया। सूचना पर पहुंची पीआरवी, प्रधान और सचिव ने ग्रामीणों को समझाने का भरसक प्रयास किया लेकिन वह नहीं माने। जिस पर एसडीएम को थाना प्रभारी के साथ वहां पहुंचना पड़ा। एसडीएम ने बहुत जल्द गांव में गो आश्रय केंद्र बनवाने का सभी को आश्वासन दिया जिस पर ग्रामीण राजी हो गए। फिलहाल सभी मवेशियों को प्राथमिक विद्यालय से निकालकर पड़ोस की ग्राम पंचायत संदाना में बने गो आश्रय केंद्र भेज दिया गया।

फसलों के अधिक नुकसान से परेशान गांव के किसानों ने शुक्रवार की सुबह पहले अन्ना मवेशियों को खदेड़ कर एक जगह इकट्ठा किया फिर सभी को ले जाकर गांव के प्राथमिक विद्यालय में बंद कर दिया। जानकारी पर पहुंची पीआरवी, प्रधान रामकिशुन और सचिव विवेक सिंह ने सभी को समझाने का प्रयास किया लेकिन किसान नहीं माने और उच्चाधिकारियों को बुलाने पर अड़े रहे। दोपहर में इंस्पेक्टर अनिल सिंह को लेकर पहुंचे एसडीएम राजेंद्र कुमार ने ग्रामीणों को गांव में गो आश्रय केंद्र शीघ्र बनवाने का आश्वासन दिया। तब जाकर ग्रामीण माने। इसके बाद सभी जानवरों को पड़ोसी ग्राम पंचायत संदाना के गो आश्रय केंद्र भिजवा दिया गया। एसडीएम पुरवा राजेंद्र कुमार ने बताया कि प्रधान व सचिव को गांव में शीघ्र गो आश्रय केंद्र बनवाने का निर्देश दिया गया गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप