जागरण संवाददाता, उन्नाव : 15 मार्च की रात 12 बजे से जिले के उद्योगों की मशीनों के पहियों पर लगा ताला खुल जाएगा। इसके बाद से ही इनका पहिया घूमने लगेगा और फैक्ट्रियों में उत्पादन भी चालू हो जाएगा। इसे देखते फैक्ट्री संचालकों द्वारा मशीनों की साफ-सफाई व मरम्मत का काम भी शुरू करवा दिया गया है। इन उद्योगों को 15 दिसंबर को प्रदेश सरकार द्वारा बंद कराया गया था।

प्रयागराज में कुंभ आयोजन के पहले प्रदेश सरकार और एनजीटी ने 15 दिसंबर से 15 मार्च तक ऐसी प्रदूषणकारी फैक्ट्रियों को बंदी आदेश जारी किया था जिनका पानी किसी भी तरह से गंगा में जाता था। इसमें जिले की प्रमुख सिटी जेल ड्रेन से जुड़ी अकरमपुर, मगरवारा व बंथर क्षेत्र की करीब आधा सैकड़ा बड़ी व इतनी ही छोटी फैक्ट्रियों में गीला काम पूरी तरह से बंद हो गया था। इसके अलावा बंथर स्थित कामन इन्फ्लुएंट ट्रीटमेंट प्लांट (सीईटीपी) को भी बंद करा दिया गया था। अब सरकार द्वारा बंदी आदेश की सीमा दो दिन बाद खत्म हो रही है। तीन माह की बंदी के बाद इन फैक्ट्रियों की मशीनें शुक्रवार से चालू हो जाएंगी।

---------------

होली से पहले फैक्ट्रियां खुलने से कर्मचारी खुश

- 21 मार्च को होली है। फैक्ट्रियां बंद होने यहां काम करने वाले कर्मचारियों में बेहद मायूसी थी। अब फैक्ट्रियों के होली से पहले खुलने उनमें उम्मीदें बढ़ गई हैं। टेनरी कर्मी दिनेश, दिवाकर, बाबूलाल व सत्यम ने बताया कि तीन माह से तो काम बंद होने से परेशानी बनी थी। कहा कि अब वह लोग त्योहार सही से मना सकेंगे।

---------------

- पूर्व के आदेश के अनुसार 15 मार्च के बाद फैक्ट्रियों को खोला जाना था। नया आदेश नहीं आया तो इस तारीख से बंदी खत्म हो जाएगी।

- विमल कुमार, आरओ, क्षेत्रीय प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप