जागरण संवाददाता, उन्नाव : जैसे-जैसे दीप पर्व नजदीक आ रहा है बाजार भी त्योहार के रंग में रंगने लगा है। चायनीज सामान के बहिष्कार की घोषणाओं के चलते अभी तके दुकानदार चायनीज सामान बिकेगा या नहीं इसको लेकर असमंजस में फंसे हैं। इसके बाद भी इलेक्ट्रानिक बाजार में झालर व अन्य सजावट का सामान उतार दिया गया है।

चायनीज सामान के बहिष्कार को लेकर उठे स्वरों के बाद भी इलेक्ट्रानिक बाजार में ड्रैगन ने पैर जमाना शुरू कर दिया है। सजावट वाली इलेक्ट्रिकल बाजार में चायनीज सामान भी सज गया है। आइवीपी पेट्रोल पंप से लेकर गांधीनगर तिराहे के बीच मुख्य बाजार में ही फुटपाथ पर तक झिलमिल रोशनी करने वाली झालरों और शोपीस की दो दर्जन दुकानें सजी हैं। सभी में चायनीज सामान भी है। लेकिन अभी चायनीज सामान की खरीददारी करने वाले इक्का दुक्का ग्राहक ही पहुंच रहे हैं।

..........

बिक्री को लेकर दुकानदारों में असमंजस

- इलेक्ट्रिकल सामग्री के अधिकांश विक्रेता चायनीज सामान की बिक्री कितनी होगी इसे लेकर असमंजस में हैं। उनका कहना है कि अभी तक नया माल नहीं उठाया है। पिछले वर्ष का जो माल बचा है वहीं दुकानों पर लगाया है।

:::::::::::::::::::::::::::

क्या बोले दुकानदार

- इलेक्ट्रानिक सजावट सामग्री के विक्रेता सिविल लाइंस निवासी केशव बाजपेई ने कहा कि कोरोना के चलते सजावट का कोई नया चायनीज माल नहीं लाया गया है। जो है अगर बिकेगा तो ठीक नहीं रखा रहेगा। कब्बाखेड़ा सिविल लाइंस के इलेक्ट्रानिक सामग्री विक्रेता महेंद्र सिंह ने बताया कि सजावट का झालर आदि सस्ता स्वदेशी सामान भी आ गया है। जो चायनीज सामान पुरना था वहीं बिक जाए तो बहुत है।

--------------

चायनीज सामग्री बहिष्कार को चलेगा अभियान

- हिदू जागरण मंच के प्रांतीय मंत्री विमल द्विवेदी ने कहा कि चायनीज सामग्री के बहिष्कार को लेकर मंच जागरुकता अभियान चलाएगा। बाजारों में मिट्टी से बने चिराग वितरित किए जाएंगे। दुकानदारों से संपर्क कर उनसे चायनीज सामग्री न भेज स्वदेशी को बढ़ावा देने की अपील भी की जाएगी।

Edited By: Jagran