जागरण, संवाददाता, उन्नाव : निर्वाचन प्रशासन लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुट गया है। इसके लिए संवेदनशील और अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों का चिह्नांकन कराने से लेकर मतदाताओं को दी जाने वाली सुविधाओं तक पर नजर है। सभी पोलिंग बूथ सीसीटीवी कैमरों की जद में रहेंगे। उनमें रोशनी की पर्याप्त व्यवस्था की जाएगी। नगरीय क्षेत्र में स्मार्ट पोलिग बूथ बनाए जाएंगे।

जिला निर्वाचन अधिकारी डीएम देवेंद्र कुमार पांडेय ने मतदाता जागरूकता कार्यक्रमों के लिए डीआइओएस, बीएसए और अन्य व्यवस्थाओं के अलग-अलग विभागों को जिम्मेदारी सौपी है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने रविवार को निर्वाचन से जुड़े सभी विभागों की विकास भवन सभागार में बैठक की। इस दौरान उन्होंने बताया कि निर्वाचन संबंधी एप बनाये जायेगें, जिसमें सुगम ,सुविधा, समाधान आदि एप के माध्यम से निर्वाचन संबंधित समस्याओं का हल कराया जायेगा । उन्होंने कहा कि लोकसभा निर्वाचन 2019 को भारत निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशानुसार निष्पक्ष, स्वतंत्र एवं शांतिपूर्वक संपन्न कराना है। अधिकारियों को चुनाव संबंधी जो जिममेदारी दी गई है। वह उसे तत्काल प्रभाव पूर्ण कराएं। डीएम ने कहा कि प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारी अपने-अपने कार्य क्षेत्र में अपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्तियों पर निरोधात्मक कार्रवाई करें। सभी एसडीएम और सीओ को निर्देश दिया कि अपने-अपने क्षेत्र में मतदान केंद्रों पर संवेदनशील और अतिसंवेदनशील केंद्रों के संबंध में मैपिग का कार्य तत्काल पूरा करें। एसपी माधव प्रसाद वर्मा ने पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों को निर्देश दिया कि आयोग की मंशा के अनुरूप काम करें। किसी भी राजनीतिक दल से कोई संबंध न रखे। उप जिला निर्वाचन अधिकारी एडीएम राकेश कुमार सिंह ने निर्वाचन प्रक्रिया की जानकारी दी। बैठक में ईवीएम एवं वीवीपैट का प्रशिक्षण दिया गया। सीडीओ प्रेम रंजन सिंह ने सभी नोडल अधिकारियों को निर्देश दिये है निर्वाचन सम्बन्धित जो जिम्मेदारी सौपी गयी है उसे निर्धारित समय में पूरा करें। बैठक में सभी एसडीएम और सीओ आदि अधिकारी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप