मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, उन्नाव : सड़क पर आवारा पशुओं की धरपकड़ के लिए डीएम से लेकर पशुपालन विभाग कई बार निर्देश दे चुका है। वहीं नगर पालिका की हालत यह है कि हर दिन पशुओं की धरपकड़ का अभियान नहीं चलता। बकरीद पर कई कोई बवाल न खड़ा हो सके इसके लेकर नगर पालिका ने सेफ जोन में जाने के लिए आवारा पशुओं की धरपकड़ शुरू करा दी है।

शनिवार को शाम को नगर पालिका के कैटल कैचर दस्ते ने शहर में आवारा पशुओं की धरपकड़ की। पकड़े गए मवेशियों को गदनखेड़ा पशु आश्रय स्थल में बंद किया गया। पालिका के कैटल कैचर दस्ते ने 40 आवारा पशुओं की धरपकड़ की। ईओ आरपी श्रीवास्तव ने बताया कि शनिवार को आवारा पशुओं की धरपकड़ का अभियान चलाया गया। रात में चहलकदमी करते रहते पशु

शहर में आवारा पशुओं की चहलकदमी रात में अधिक रहती है। इस कारण अक्सर हादसे होते हैं लेकिन तमाम शिकायतों के बाद भी इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। शहर में पीडी नगर से लेकर इंदिरा नगर, बड़ा चौराहा, कब्बाखेड़ा सफीपुर मार्ग पर जानवर रात में सड़क के बीचोबीच बैठे रहते हैं जिससे हादसे होते हैं। सड़क से हटाया गया अतिक्रमण

शहर की सड़कों पर भवन निर्माण सामग्री की दुकान खोले दुकानदार सड़क पर ही मौरंग, बालू, कंकरीट डाल देते हैं जिससे दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। नगर पालिका प्रशासन ने शनिवार को गदनखेड़ा से अचलगंज तिराहे तक अभियान चलाया। इस दौरान दुकानदार अपनी सामग्री अलग जगह पर एकत्र करते दिखे। पालिका ईओ आरपी श्रीवास्तव ने बताया कि सड़क पर भवन निर्माण सामग्री फैलाकर अतिक्रमण करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप