जागरण संवाददाता, उन्नाव : रक्षाबंधन का त्योहार बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। बहनों ने भाइयों की कलाई में राखी बांधकर उनके दीर्घायु जीवन की कामना की। भाइयों ने भी बदले में रक्षा का वचन देकर उन्हें उपहार भेंट किए।

गुरुवार सुबह विधि विधान पूर्वक पूजन अर्चन कर बहनों ने भाइयों को रक्षासूत्र बांधा। भाइयों को राखी बांधने के लिए सुबह से बहनों में उत्सुकता रही। बहनों ने रोचना कर राखी बांध भाइयों का मुंह मीठा करा उनके दीर्घायु और यशस्वी होने की कामना की। तो भाईयों ने बहनों के चरण छू कर आशीर्वाद लिया। तोहफा देने के साथ भाइयों ने उनकी रक्षा का संकल्प लिया। रक्षाबंधन को लेकर बाजार में मिठाई खरीदने का दौर सुबह से शाम तक चलता रहा। फुटपाथ से लेकर ब्रांडेड मिठाई तक की दुकानों पर भारी भीड़ देखने को मिली। रक्षाबंधन का सिलसिला देर रात तक चलता रहा। कारागार में बंद भाइयों को बड़ी संख्या में बहनों ने राखी बांधी।

..............

वाहनों का रहा संकट

- रक्षाबंधन पर भाइयों को राखी बांधने के लिए घर से निकली बहनें हो या फिर बहन से राखी बंधवाने के लिए निकले भाई सभी को वाहनों के संकट का सामना करना पड़ा। एक तो निजी यात्री वाहन कम चल रहे थे उस पर आने जाने वालों की भारी भीड़ होने आवागमन का संकट कुछ अधिक ही रहा। रोडवेज बसों तक में धक्का मुक्की करके ही लोग घुस पाए। ऐसे में टेंपो और ई-रिक्शा चालकों ने जमकर चांदी काटी। चार की जगह छह से सात सवारी बैठा वह सड़क पर नजर आए। दिन भर शहर में छोटा चौराहा से बड़ा चौराहा व एसपी कार्यालय से लोनिवि के बीच जाम लगता रहा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस