संवाद सूत्र, मौरावां: हिलौली पीएचसी में बीते एक पखवारे से मेंटर स्टाफ नर्स, एचईओ व आशाओं के बीच तनातनी चल रही थी। मामले क पटापेक्ष करने के लिए सीएमओ ने बीती 15 तारीख को अलग-अलग पीएचसी में दोनों को संबद्ध कर दिया था, लेकिन इस आदेश के दूसरे ही दिन एचईओ का आदेश निरस्त कर दिया। जिसको लेकर आशाओं का गुस्सा सीएमओ के खिलाफ गुस्सा है।

बीते 15 दिनों से हिलौली प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र विवाद का केंद्र बन गया है। एचईओ सरोज बाला और मेंटर स्टाफ नर्स स्मृति जौहरी और आशाओं के बीच उत्पन्न विवाद से स्वास्थ्य विभाग की जमकर किरकरी हुई है। असल में आशा बहुएं धन उगाही व अभद्रता का आरोप लगाकर दोनों के स्थानांतरण पर अड़ी थीं। विवाद का पटापेक्ष करने के लिए गुरुवार को सीएमओ ने एचईओ को मियागंज और स्टाफ नर्स को शुक्लागंज पीएचसी से संबद्ध करने का आदेश पारित किया था। लेकिन दूसरे ही दिन शुक्रवार को एचईओ का आदेश निरस्त कर दिया गया और अग्रिम आदेश तक हिलौली में ही तैनात रहने का निर्देश दिया। सीएमओ के इस निर्णय से आशाओं में असंतोष व्याप्त है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021