जागरण संवाददाता, उन्नाव : कृषि विभाग प्रसार कार्मिकों द्वारा रबी दो दिवसीय 120 किसान पाठशालाओं के दूसरे चरण का समापन किया गया। किसान पाठशाला में 3446 महिला और 5489 पुरुष सहित कुल 8935 किसानों ने प्रतिभाग किया।

ग्राम पंचायत महनौरा में श्रवन कुमार उप कृषि निदेशक (बीज एवं प्रक्षेत्र) लखनऊ ने बताया कि कुछ वर्षों से कृषि कार्य में यंत्रों का प्रयोग अधिक होने एवं में कृषि मजदूरों की कमी के साथ फसल अवशेष जलाया जा रहा है। जिसके कारण वातावरण प्रदूषित होने के साथ-साथ मृदा में पोषक तत्वों की बहुत अधिक क्षति होती है। उप कृषि निदेशक मुकुल तिवारी ने बताया कि जिले में पराली प्रबंधन जागरूकता अभियान पराली दो खाद लो के अंतर्गत पुरवा, नवाबगंज, बांगरमऊ में गोशाला में 825 मीट्रिक टन पराली (धान पुआल व मकहरा) कृषकों से दान करा के बदले में उन्हें गोबर की खाद दिलवाया गया। कहा कि असोहा, पुरवा, बीघापुर सुमेरपुर में 13 नवंबर व सफीपुर, फतेहपुर चौरासी, गंजमुरादाबाद, हसनगंज एवं औरास के राजकीय कृषि बीज भंडार 14 नवंबर को प्राली प्रबंधन जागरुकता अभियान के तहत कृषक गोष्ठी का आयोजन करें। असोहा पुरवा, हिलौली में विधायक अनिल सिंह ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन तिलहीन योजना में सरसों के बीज मिनीकिट का वितरण किया। कुलदीप कुमार मिश्रा जिला कृषि अधिकारी ने बताया कि सभी फसलों के बीजों पर 50 प्रतिशत अनुदान है। 16 नवंबर को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन व अन्य योजना में स्माल गोदाम, थ्रेसिग फ्लोर एवं कस्टम हायरिग सेंटर व कृषि यंत्रों पर अनुदान के लिए बुकिग करा सकते हैं। बुकिग किसी भी जनसेवा केंद्र, साइबर कैफे अथवा स्वयं के संसाधन से करा सकते हैं।

Edited By: Jagran