संवादसूत्र, सुलतानपुर : निरोग रहने के लिए योग बहुत जरूरी है। कहा कि दवा से एक रोग ठीक होता है जबकि योग से कई रोग ठीक होता है। निरोग रहने के लिए हमें योग को अपनी दिनचर्या का अंग बनाना होगा। योगाभ्यास के जरिए मनुष्य बिना किसी खर्च के बीमारियों से बच कसता है। हमारी भारतीय संस्कृति में हजारों वर्ष से योग विद्या के जरिए मनुष्य को स्वस्थ जीवन जीने की प्रेरणा मिलती आई है। इसलिए सभी को योग जरूर करना चाहिए। भारत की इस कला ने हमें अंतराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाई है। हम इसे कतई न भूलें। यह बात शास्त्रीनगर में आयोजित गोष्ठी मे क्षत्रिय कल्याण परिषद के संरक्षक अधिवक्ता अर¨वद ¨सह राजा ने शुक्रवार को कहीं।

अधिवक्ता राजा ने पूर्व का जिक्र करते हुए कहा कि पहले न तो इतनी दवाएं हुआ करती थीं और न ही चिकित्सक। लोग नियमित जीवन व देशी दवाओं के बल पर अधिक समय तक निरोग रहते थे। गलत खान-पान और भागमभाग ¨जदगी से हमें रोग मिल रहा है। उन्होंने कहा कि कट रहे पेड़ भी इसके एक कारक हैं। उन्होंने सभी को नियमित योग करने की सलाह दी। गोष्ठी में ईं.आरपी ¨सह, बृजेश ¨सह, अमित श्रीवास्तव समेत अन्य लोग मौजूद रहे। कार्यक्रम के अंत सभी ने पौधे रोप।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप