सुलतानपुर : अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर सोमवार को शहर से लेकर ग्रामीणांचल तक विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए। स्वास्थ्य, शिक्षा, खेल व अन्य क्षेत्रों में बेहतर कार्य कर जिले का नाम रोशन करने वाली महिलाओं व छात्राओं को सम्मानित भी किया गया।

पंडित रामनरेश त्रिपाठी सभागार में महिला सशक्तिकरण व नारी की उन्नति विषय पर हुए संवाद में जिलाधिकारी रवीश गुप्ता ने कहा कि महिलाओं की दशा व दिशा सुधारने की लगातार कोशिश की जा रही है। सुरक्षित माहौल देने के लिए पुलिस विभाग से वाट्सएप के जरिए जागरूकता अभियान चलाने के लिए निर्देशित किया जाएगा। एसपी डॉ. अरविद चतुर्वेदी ने भारतीय परंपराओं में नारी का महत्व रेखांकित करते हुए कहा कि विद्या की देवी सरस्वती, शक्ति की देवी दुर्गा और ऐश्वर्य की देवी लक्ष्मी हैं। महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए समय-समय पर कानून में बदलाव कर उप धाराएं जोड़ी गई हैं, जिससे दोषी व्यक्ति को सजा दी जा सके। आज साइबर अपराधी पारंगत एवं कुशल है, इसलिए डिजिटली सक्रिय रहने वाली महिलाओं को बेहद सतर्क रहने की जरूरत है। मुख्य विकास अधिकारी अतुल वत्स द्वारा महिलाओं को अपरिचित मित्रों से सतर्क रहने की सलाह दी गई। इस मौके पर विधायक गण, अन्य जन प्रतिनिधि व अधिकारीगण मौजूद रहे।

शिक्षण संस्थानों में भी रही धूम : केएनआइ के विधि विभाग द्वारा आयोजित संगोष्ठी में विभागाध्यक्ष सुधाकर शुक्ला ने कहा कि महिलाओं को अपने संवैधानिक अधिकारों की समझ होनी चाहिए। इस मौके पर छात्र दिलीप राय, सौरभ सिंह, सुमित सिंह व छात्रा तसमिया, तनु शुक्ला, डॉ. शिव बहादुर तिवारी, डॉ. सुबास चंद्र यादव, डॉ. प्रभात सिंह, डॉ. अवधेश दूबे, डॉ गौतम, डॉ. वंदना सिंह आदि मौजूद रहे। राजनीति विज्ञान विभाग में महिलाओं की समस्या एवं समाधान विषय पर आयोजित संवाद में बीए तृतीय वर्ष की छात्रा श्वेता तिवारी ने इंदिरा गांधी, अरुणिमा सिन्हा, मैरी कॉम, किरन बेदी से प्रेरणा लेकर आगे बढ़ने की बात कही। छात्र आदर्श मिश्रा, कार्यक्रम का संचालन विभागाध्यक्ष डॉ. रंजना सिंह ने किया। रसायन विभाग विभाग में भी संगोष्ठी किया गया। गनपत सहाय पीजी कालेज में महिला विभाग के पंडित राम किशोर त्रिपाठी सभाकक्ष में महिला दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के दौरान डॉ. गीता त्रिपाठी, डॉ. अजय कुमार मिश्र, डॉ. दिनेश चंद्र द्विवेदी, डॉ. सूर्य प्रकाश मिश्र ने अपने-अपने विचार रखे। इस मौके पर प्राचार्य डॉ. जेएन मिश्र, डॉ. मोहम्मद शमीम, डॉ. मौसम गुप्ता, डॉ. कुंवर दिनकर प्रताप सिंह आदि मौजूद रहे। वहीं दूबेपुर ब्लॉक के अमिलिया खुर्द जूनियर हाईस्कूल में सहायक अध्यापिका रीना सिंह व प्रधानाचार्य एसपी सिंह की अगुवाई में मीना मंच के जरिए जुए व नशे की लत के खिलाफ कड़ा संदेश दिया गया। स्वावलंबी, खुद्दार व आत्मनिर्भर महिलाओं को सम्मानित भी किया गया। जूनियर विद्यालय बांसी में चौपाल के जरिए आत्म निर्भर बनाने के लिए नाटक का मंचन किया। जनपदीय संग्रहालय में भारतीय इतिहास में महिलाओं के योगदान पर ऑनलाइन प्रदर्शनी का आयोजन किया गया।

सम्मानित की गई महिलाएं : किक बॉक्सिग व ताइक्वांडो की राष्ट्रीय खिलाड़ी अमीना बानो को एक संस्था द्वारा महिला थाने में सम्मानित किया गया। नारदर्न रेलवे मेंस यूनियन की ओर से महिला रेलकर्मी प्राणपति, रंजना, गीतांजलि, गोल्डी मिश्रा, किशोर देवी व गेंदा कुमारी को सम्मानित किया गया। पंत स्पो‌र्ट्स स्टेडियम में जिला ओलंपिक एवं वॉलीबाल संघ द्वारा भाग्यवती महिला महाविद्यालय प्रबंधक अनिल वर्मा की मौजूदगी में जिले की राष्ट्रीय स्तर पर खेल रही 10 वॉलीबाल खिलाड़ियों का मेडल देकर सम्मान किया गया। पंडित राम नरेश त्रिपाठी सभागार में आंगनाबाड़ी कार्यकर्ता किरन मिश्रा समेत उत्कृष्ट कार्य करने वाली विभिन्न विभागों के 50 महिलाओं को पुरस्कृत किया गया।

Edited By: Jagran