सुलतानपुर : पूर्व मंत्री जंग बहादुर समेत अन्य के खिलाफ चल रहे हत्या के केस में कई पेशियों से गवाह हाजिर नहीं हो रहे हैं। जिस पर संज्ञान लेते हुए स्पेशल जज एमपी-एमएलए पीके जयंत की अदालत ने संबंधित डीएम-एसपी व डीजीपी को चिट्ठी भेजने का आदेश देते हुए गवाहों को हाजिर कराने के लिए कहा है।

मामला अमेठी जिले के जामों थाना क्षेत्र के पूरब गौरा गांव से जुड़ा है। यहीं के निवासी राम उजागिर यादव 30 जून 1995 की घटना बताते हुए अपने भाई राम प्रकाश यादव की हत्या के आरोप में पूर्व मंत्री जंग बहादुर सिंह, रमेश सिंह, हर्ष बहादुर सिंह समेत अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। मामले का विचारण स्पेशल जज एमपी-एमएलए की अदालत में चल रहा है। मामले में कुछ गवाहों का साक्ष्य पूरा हो चुका है, शेष गवाहों का साक्ष्य कई वर्षों से लंबित है। मामले में संज्ञान लेते हुए अदालत ने संबंधित एसपी को पत्र भेजकर गवाहों को हाजिर कराने का आदेश दिया था। जिम्मेदार अफसरों की लापरवाही से गवाह कोर्ट तक नहीं पहुंचे। मामले को संज्ञान लेते हुए स्पेशल जज पीके जयंत ने एसपी व डीएम अमेठी एवं डीजीपी उत्तर प्रदेश को पत्र भेजकर गवाहों को नियत तिथि पर साक्ष्य के लिए हाजिर कराने का आदेश दिया है। मामले में सुनवाई के लिए आगामी 21 दिसम्बर की तिथि तय की गयी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस