सुलतानपुर : स्थानीय रेलवे गुड्स साइडिग पर शनिवार की रात डिब्बों से इंजन को जोड़ने (संटिग) के दौरान एक मालगाड़ी पटरी से उतर गई। लोको पॉयलट ने इसकी सूचना रेलवे कंट्रोल रूम व स्टेशन अधीक्षक को दी। दुर्घटना राहत ट्रेन (एआरटी) की मदद से रेलपथ अभियंताओं ने पांच घंटे की मशक्कत के बाद गाड़ी के पहियों को दोबारा ट्रैक पर चढ़ाया। मंडल रेल प्रबंधक ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं।

फॉर्चून रिफाइंड ऑयल का रैक लेकर शनिवार को 42 वैगन की मालगाड़ी गुड्स साइडिग पर पहुंची थी। माल उतारने के बाद रात करीब 10 बजे लोको पायलट गाड़ी के डिब्बों में इंजन को जोड़ रहा था। इसी दौरान चौदहवें नंबर वैगन के चार पहिए डिरेल हो गए। इसकी जानकारी मिलते ही रेलवे के स्थानीय अधिकारी आनन-फानन में मौके पर पहुंचे। रात एक बजे फैजाबाद की एआरटी टीम भी घटनास्थल पर पहुंच गई। स्टेशन अधीक्षक लखनलाल मीना ने बताया कि रात 2:55 बजे मालगाड़ी को रिरेल कर दिया गया था। फिटनेस के बाद रविवार सुबह 8:30 बजे ट्रेन को चुनार के लिए रवाना किया गया। हादसे की वजह से 11 घंटे तक मालगाड़ी का संचालन प्रभावित हुआ।

प्राथमिक जांच में ट्रैक पर मिली मिट्टी

मंडल रेल प्रबंधक संजय त्रिपाठी ने स्थानीय अधिकारियों से घटना की रिपोर्ट तलब की है। स्टेशन अधीक्षक मीना का कहना है कि प्राथमिक जांच में मिले तथ्यों से यह लग रहा है कि साइडिग ट्रैक के किनारे मिट्टी जमा होने से डिरेलमेंट हुआ था। अन्य विदुओं पर भी पड़ताल कर इसकी रिपोर्ट मंडल कार्यालय लखनऊ भेज दी गई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप