सुलतानपुर : गत 15 दिनों से चलाए जा रहे दैनिक जागरण के अभियान का असर प्रशासन से लेकर शासन तक हुआ है। ओडीएफ गांवों की हकीकत, पीएम आवास में भ्रष्टाचार व इंटरलॉ¨कग में घोटाला जैसी खबरें उजागर करने के बाद भाजपा विधायक समेत अन्य शीर्ष नेताओं ने गांवों का दौरा कर जागरण की खबर पर न सिर्फ मुहर लगाई, बल्कि उसकी रिपोर्ट शासन को भी भेजा। इस पर प्रशासन भी सजग हुआ और अब भ्रष्टाचारियों पर जिलाधिकारी विवेक ने सख्ती का चाबुक चला दिया है। सभी जगह योजनाओं की जांच करने का आदेश भी दे दिया गया है। जागरण की खबर का यह हुआ असर

1. विधायक के गांव में पहुंचा जांच दल

विधायकों के गांव भी नहीं हो सके ओडीएफ की खबर छपने के बाद जांच दल मौके पर पहुंचा। लोगों ने रिपोर्ट बड़े अफसरों को भेजी। विधायक सीताराम वर्मा पतारखास, सूर्यभान ¨सह के गांव बेलहरी, देवमणि द्विवेदी के गांव सूर्यभान पट्टी आदि की मानीट¨रग शुरू हो गई है।

----------

2.नौ बीडीओ का रोका गया वेतन

पंचायत सचिव व ग्राम्य विकास अधिकारियों की बैठक में स्वच्छता अभियान में बरती जा रही लापरवाही, निर्माण में सरकारी धन के दुरुपयोग व धांधली को डीएम विवेक ने संज्ञान में लिया और सीडीओ से रिपोर्ट मांगी। फिर जिलाधिकारी ने नौ खंड विकास अधिकारियों का एक दिन का वेतन रोकने का निर्देश दिया।

-----------

भाजपा उपाध्यक्ष ने भी की पड़ताल

भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ.राकेश त्रिवेदी ने जिले में प्रवास के दौरान जागरण की खबर पढ़ी तो वे भी हकीकत को परखने गांव में पहुंच गए। कुड़वार विकास खंड के बहलोलपुर, डोमनपुर आदि गांवों में शौचालयों व मार्ग निर्माण में घटिया ईंटों के प्रयोग से वे गुस्से में आ गए। ईंट हाथों से मसलने पर भरभरे हो जाते थे। उन्होंने सीडीओ से बोलकर न केवल काम बंद करवाया, बल्कि कार्यदायी संस्था को काली सूची में डालने को कहा।

---------

बुधवार व शनिवार को होगी समीक्षा

हफ्ते में दो दिन शौचालय निर्माण की समीक्षा करने का निर्देश दे दिया। जिम्मेदारी डीएसटीओ पन्नालाल को सौंपी गई है। सीडीओ ने प्रधानों की बैठक भी बुलाई है।

Posted By: Jagran