सुलतानपुर : नगर पालिका अपने आर्थिक स्त्रोतों को मजबूत करने के लिए करों की वसूली में तेजी लाने की योजना बनाई है। जुलाई माह से गृह व जलकर की वसूली के लिए सभी गृहस्वामियों को नोटिस जारी की जाएगी। इन करों के जरिए पालिका को तकरीबन चालीस हजार रुपये प्रतिदिन की आय होती है। संक्रमण के चलते यह इस समय पूरी तरह ठप है।

बीते वित्तीय वर्ष में गृहकर के लिए 60 लाख रुपये अनुमानित आय तय की गई थी, जिसके सापेक्ष मात्र 42 लाख 22 हजार 667 रुपये पालिका के खाते में जमा हुए और 10 लाख 35 हजार 369 रुपये की हानि हुई। इसे लेकर नगर पालिका के सभासदों ने कड़ी आपत्ति जताई और इसकी जिम्मेदारी अध्यक्ष व अधिशासी अधिकारी पर तय की। इस वर्ष कोरोना संक्रमण के चलते 31 मार्च से पहले बजट प्रस्तुत नहीं किया जा सका और बीती 10 जून को हुई बजट बैठक सभासदों के विरोध के चलते स्थगित हो गई और वार्षिक बजट नहीं पास हो सका। ऐसे में नगर पालिका प्रशासन अपनी आय बढ़ाने के लिए गृह व जलकर की वसूली में सक्रियता बढ़ा रहा है। सवा लाख आबादी व 25 वार्डों वाली नगर परिषद में तकरीबन 30 हजार भवन हैं, जिससे गृहकर व जलकर वसूला जाता है। इसे वसूलने के लिए परिषद प्रशासन ने विशेष पटल बनाए हैं। अधिशासी अधिकारी रवींद्र कुमार ने कहा कि रिकार्ड को दुरुस्त और कंप्यूटराइज्ड किया जा रहा है। माह जुलाई में गृहस्वामियों को कर जमा करने के लिए रसीदें दी जाएंगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस