सुलतानपुर: थाना परिसर में आत्मदाह करने व पुलिस पर हमले का प्रयास करने के आरोप में पुलिस ने मां-बेटी को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपित महिला पति की गिरफ्तारी से नाखुश होकर अपनी बेटी के साथ थाने पर पहुंची थी।

नगर पंचायत स्थित साईं की तकिया की रहने वाली भाजपा महिला मोर्चा की सदस्य शबनम बेगम ने घर पर पार्टी का झंडा लगा रखा है। शबनम का आरोप है कि 28 नवंबर की रात करीब दस बजे मुहल्ले के सफीक अपने बेटे तारिक, पोते उवैस व परिवार के अन्य सदस्यों के साथ हाथ में ईंट पत्थर लेकर उसके घर आ धमके। डर की वजह से उसने दरवाजा बंद कर लिया। लोगों ने घर में ईंट-पत्थर फेंकना शुरू कर दिया। उनकी तरफ से पार्टी का झंडा न लगाने की धमकी दी जा रही थी। इस मामले में शबनम की तरफ से आठ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए थाने में तहरीर दी गई। बुधवार को मंडल अध्यक्ष संजय गुप्ता की अगुवाई में थाने पहुंचे सैकड़ों कार्यकर्ताओं के दबाव में पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत कर लिया। थोड़ी देर बाद तारिक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। पति के गिरफ्तार होने की खबर सुनकर उसकी पत्नी शबनम सेहरा व बेटी सेहनूर बानों थाने पहुंच गईं। थाना प्रभारी प्रेम चंद्र सिंह का कहना है कि शबनम ने हाथ में ज्वलनशील पदार्थ से भरा बोतल ले रखा था। वह आत्महत्या का प्रयास करने लगी। यह देखकर महिला कांस्टेबल दीक्षा मिश्रा, रश्मि ने मां-बेटी को पकड़ लिया और समझाने लगीं। बावजूद इसके दोनों महिलाएं पुलिस पर हमलावर हो गई। किसी तरह से उन्हें काबू किया गया। इसके बाद मुकदमा दर्ज करने व गिरफ्तारी की कार्रवाई की गई। शबनम के ससुर सफीक का कहना है कि पार्टी के दबाव में आकर उनके परिवार को प्रताड़ित किया जा रहा है। पुलिस भी भाजपा नेताओं के दबाव में ही काम कर रही है।

Edited By: Jagran