सुलतानपुर : बिजली लाइन की फाल्ट ठीक करने के दौरान होने वाले हादसों पर अंकुश लगाने के लिए पॉवर कार्पोरेशन ने प्रभावी कदम उठाए हैं। ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा के निर्देश पर निगम में कार्यरत संविदा कर्मियों को सेफ्टी किट और वर्दी उपलब्ध कराई जा रही है। लाइन पर काम करने वाले कर्मियों को मौत के मुह में जाने से बचाने के लिए उनको सेफ्टी बेल्ट, हेल्मेट व सुरक्षा ग्लव्स दिए जा रहे हैं। फीडरों की संख्या के हिसाब से उपकेंद्रों पर सेफ्टी किट उपलब्ध कराई जा रही है।

सुलतानपुर वितरण मंडल में कुल 40 उपकेंद्र हैं। जिनके संचालन के लिए ओरियन सिक्योरिटी सल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड को अनुबंधित किया गया है। पॉवर स्टेशनों व फीडरों के परिचालन के लिए आउटसोर्सिंग व्यवस्था के तहत कुशल व अकुशल को मिलाकर करीब छह सौ कर्मी तैनात किए गए हैं। ऊर्जा मंत्री ने गत दिनों संविदा कर्मियों को प्रशिक्षण के साथ ही सुरक्षा किट देने के लिए अनुबंधित कंपनी को निर्देशित किया था। ओरियन के जिला प्रबंधक संतोष मिश्र ने बताया कि डाकखाना, दरियापुर, केएनआइ, ट्रांसपोर्टनगर, जयसिंहपुर व हलियापुर उपकेंद्रों पर सुरक्षा किट व यूनिफार्म वितरित कर दिया गया है। सुरक्षित तरीके से काम करने के लिए कर्मियों को जागरूक भी किया जा रहा है। उनका कहना था कि अगले हफ्ते तक जिले के सभी पॉवर हाउस पर सेफ्टी किट मुहैया करा दी जाएगी।

पांचवे दिन भी जारी रही हड़ताल:

मानदेय विसंगति को लेकर आंदोलित बिजली विभाग के संविदा कर्मियों की हड़ताल रविवार को लगातार पांचवे दिन भी जारी रही। उन्होंने कामकाज ठप कर तैनाती वाले उपकेंद्रों पर विरोध प्रदर्शन किया। अधीक्षण अभियंता धीरज सिन्हा का कहना है कि जुलाई तक के मानदेय का भुगतान कर दिया गया है। दीवाली के पूर्व बकाया मानदेय कर्मियों को देने के लिए सेवायोजक कंपनी को निर्देशित किया गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप