संवादसूत्र भदैंया : जिले के प्रसिद्ध व प्राचीनतम देवी मंदिर धाम लोहरामऊ दर्शन को पहुचने से पहले भक्तो के पैर ठिठक जा रहे हैं । क्योंकि मंदिर के पहले स्थित दर्जनों घरों से निकला नाली का पानी सड़क पर फैला रहता है । भक्त बडी मशक्कत के बाद उसे पार कर मंदिर तक पहुंच रहे हैं।

कोतवाली देहात थाना क्षेत्र के हाइवे किनारे लोहरामऊ गांव मे प्राचीन दुर्गा देवी मंदिर धाम है । जहा प्रत्येक शुक्रवार सोमवार मेले जैसा माहौल रहता है। साथ ही प्रतिदिन सैकडो देवी भक्त वहां दर्शन को पहुचते है । मंदिर द्वार से पहले दर्जन भर आवासीय घर बनै हैं। जिनसे निकली नालियों का पानी मंदिर के रास्ते पर भरा रहता है। जो भी भक्त मंदिर में दर्शन को आता है वह इन गंदे व दूषित पानी के बीच से ही मंदिर तक पहुंच रहा है । इससे भक्तों को काफी परेशानी होती है । इसके लिए मंदिर प्रबंध समिति के लोग व मंदिर पुजारी ने कई बार लोगों को हिदायत दी तथा प्रशासन से भी इसकी व्यवस्था के बावत सूचित किया। लेकिन कोई सार्थक परिणाम नहीं निकल सका है। जिससे लोगों में आक्रोश व्याप्त है ।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप