सुलतानपुर : कोरोना संक्रमण के दुष्प्रभाव के चलते ठप हुए कारोबार से पथ विक्रेता तंगहाली में हैं। इन पटरी दुकानदारों को सरकार की ओर से आर्थिक सहयोग का पैकेज दिया जा रहा है। इसके तहत पंजीकृत हर पथ विक्रेता को एक हजार रुपये प्रतिमाह तीन महीने तक दिया जाएगा। नगर पालिका क्षेत्र में पंजीकृत 3332 ऐसे दुकानदारों में 1700 पथ विक्रेताओं को प्रथम चरण में सहयोग धनराशि दिए जाने की संस्तुति की गई है।

नगर पालिका और नगर पंचायत क्षेत्रों में पंजीकृत तकरीबन तीन हजार ऐसे फुटपाथ विक्रेताओं के बैक खाते में एक हजार रुपये सरकार की ओर से हस्तांतरित किए जाएंगे। ऐसे पात्र पथ विक्रेताओं को दो माह का राशन भी वितरित किया जाएगा। नगर पालिका और जिला नगरीय विकास अभिकरण की ओर से पंजीकृत इन पथ विक्रेताओं को बीती मार्च में लॉकडाउन के दौरान इस तरह की आर्थिक सहायता दी गई थी।

सहायता की यह धनराशि पात्रों के खाते में डीबीटी (डाइरेक्ट बेनीफिट ट्रांसफर) के जरिए भेजी जाएगी। नगर पालिका के अधिशाषी अधिकारी श्यामेंद्र मोहन चौधरी ने बताया कि पालिका के रिकार्ड में दर्ज पटरी दुकानदारों को यह लाभ दिया जाएगा। बीते तीन दिन से बेवसाइट में कुछ बाधा आ जाने से अगले चरण के पात्र पटरी दुकानदार नहीं की जा सकी है।

श्रम विभाग का सर्वे शुरू :

रोज कमाने खाने वालों तक सरकारी इमदाद पहुंचाने के लिए 45 श्रेणी के कामगारों को सहायता मुहैया कराने के लिए सर्वे शुरू किया गया है। इन छोटे कारोबारियों से विभागीय स्तर पर अपील की गई है कि जनसुविधा केंद्र के जरिए अपना पंजीकरण कराएं। शहरी क्षेत्र में विभागीय टीम के लोग योजना की जानकारी लोगों तक पहुंचा रहे हैं। सहायक श्रमायुक्त नासिर खान ने बताया कि इस श्रेणी के आवेदकों के आवेदन ऑनलाइन प्राप्त हो रहे हैं। अब तक 700 से ज्यादा आवेदन प्राप्त हुए हैं।

Edited By: Jagran