सुलतानपुर : 19 अक्टूबर से माध्यमिक विद्यालयों के खोले जाने संबंधी गाइड लाइन जारी कर दी गई है। छह फीट की दूरी पर छात्रों के बैठने की व्यवस्था के साथ ही सुरक्षा के अन्य मानकों को ध्यान में रखना अनिवार्य किया गया है। कोरोना की वजह से 50 फीसद ही छात्रों को विद्यालय बुलाया जाएगा और सभी की थर्मल स्क्रीनिग की जाएगी। जिन शिक्षकों व छात्रों को खांसी, सर्दी व जुकाम होगा उन्हें विद्यालय में प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

शनिवार को शहर के पंडित रामनरेश त्रिपाठी सभागार में विद्यालयों को खोलने के लिए डीएम की अध्यक्षता में जिले के तीन सौ प्रधानाचार्यों की बैठक बुलाई गई थी। प्रधानाचार्यों को सैनिटाइजेशन, हाथ धुलने की व्यवस्था, थर्मामीटर, मास्क आदि की व्यवस्था किए जाने का निर्देश दिया गया है। आपातकालीन स्थिति में चिकित्सा विभाग के वाहन तथा चिकित्सकों की व्यवस्था की जाएगी। नेशनल इंटर कॉलेज कादीपुर के प्रधानाचार्य केडी सिंह ने अपने यहां साफ-सफाई बच्चों के हाथ धुलने की व्यवस्था तथा सैनिटाइजर छिड़काव की व्यवस्था की चर्चा की। श्री हनुमत इंटर कालेज धम्मौर के प्रधानाचार्य वेद प्रकाश आर्य ने विभिन्न रंगों के परिचय पत्र निर्गत कर छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित को लेकर जिला प्रशासन को आश्वस्त किया। विद्यालयों द्वारा सुरक्षा संबंधी की गई तैयारियों आदि की जांच के लिए मजिस्ट्रेट स्तर की निरीक्षण व्यवस्था भी लागू की जाएगी। जिला विद्यालय निरीक्षक जयप्रकाश यादव ने विभाग द्वारा की गई तैयारी व मूल्यांकन, आधे छात्राओं को बुलाने आदि के बारे में विस्तार से चर्चा की। कार्यक्रम का संचालन केश कुमारी राजकीय बालिका इंटर कालेज के प्रवक्ता शैलेंद्र चतुर्वेदी ने किया।

विद्यालयों के पास पुलिस की रहेगी तैनाती : पुलिस अधीक्षक शिवहरी मीणा ने कहा कि छात्राओं की सुरक्षा व कोरोना बचाव संबंधी उपायों का सख्ती से पालन कराने के लिए विद्यालयों के पास पुलिस के जवानों को तैनात किया जाएगा। किसी भी विषम परिस्थिति में फोन करने पर जरूरतमंदों को मदद दी जाएगी। इसके लिए शहर से लेकर ग्रामीणांचाल तक एंटी रोमियो की सभी 18 टीमों को सक्रिय कर दिया गया है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस