सुलतानपुर : कोरोना संक्रमितों की संख्या जिले लगातार कम हो रही है, जो कि यहां के बाशिंदों को सुखद एहसास करा रही है। लेकिन, बाजारों में उमड़ती भीड़ लोगों की लापरवाही भी बयां कर रही है। शारीरिक दूरी का नियम तो दूर लोग मास्क लगाना भी जरूरी नहीं समझ रहे हैं। लाकडाउन की बंदिशें हटने के बाद तो सरकारी दफ्तरों से लेकर गली व मुहल्लों की दुकानें गुलजार हो गईं। ऐसी ही बेपरवाही जारी रही तो इसका खामियाजा भी भुगतना पड़ सकता है।

नगर के चौक पारकींसगंज, ठठेरीबाजार, पंचरास्ता, सब्जीमंडी, रूद्रनगर, शाहगंज, बाटा गली, जीएन रोड ऐसे स्थान हैं, जहां पर रोजना भीड़ जुटती है। सबसे बड़ी बात यह है कि ठेले व फुटपाथ के दुकानदार अधिक बेपरवाह हैं, जहां झुंड में खरीदार शारीरिक दूरी के नियमों को तार-तार कर रहे हैं। दुकानदार भी अब मास्क लगाने से बचने लगे हैं।

सड़कों पर जाम बयां कर रहा लापरवाही :

सुबह दस बजे के बाद दिनभर शहर की लगभग हर सड़कें जाम हो जाती हैं। नार्मल चौराहे से पंत स्पोर्ट स्टेडियम, गोलाघाट से अमहट, कलेक्ट्रेट से दरियापुर, शाहगंज से जिला अस्पताल मार्ग पर दिनभर जाम लगा रहा। शहर में बाइक सवार के अलावा चारपहिया वाहनों का रेला रहता है। यह लापरवाही बयां करती है कि बहुत जरूरी न होने पर भी लोग सड़क पर निकल रहे हैं।

बंद हुआ प्रचार-प्रसार :

लोग तो अपनी चिता भूल ही गए हैं, ऐसे में सरकारी प्रचार-प्रसार भी बंद हो गया है। सार्वजनिक स्थलों पर लोगों को जागरूक करने के लिए लगे लाउडस्पीकर भी चुप हो गए हैं। नगर पालिका, चौक, पुलिस लाइन कलेक्ट्रेट, सीताकुंड चौकी आदि जगहों पर कोरोना की सावधानी वाली आवाज अब नहीं सुनाई दे रही है।

Edited By: Jagran