सुलतानपुर : पति की दीर्घायु व अखंड सौभाग्य के लिए गुरुवार को कजरी तीज के पर्व पर महिलाओं ने निर्जल व्रत रखा। सुबह से ही शिवमंदिरों में हर-हर महादेव के जयकारे के साथ भगवती पार्वती की पूजा-अर्चना शुरू हो गई। दिनभर पूजन-अनुष्ठान चलते रहे। घर-घर विविध धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किए गए।

सदियों पुरानी परंपरा के अनुसार हरितालिका तीज (कजरी तीज) पर विशेष पूजन-अनुष्ठान के आयोजन घर-घर में सुबह से ही शुरू हो गए। महिलाओं ने शिव-पार्वती का पूजन-अर्चन कर अखंड सौभाग्य एवं पति के लंबी आयु की कामना की। वहीं सीताकुंड, रामलीला मैदान स्थित सिद्धेश्वरनाथ, लखनऊनाका स्थित काली शंकर, पल्टन बाजार स्थित नागेश्वरनाथ समेत शहर के विभिन्न मंदिरों में श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक कर शिव आराधना की। हर-हर बमबम और हर-हर महादेव के जयकारे दिनभर गूंजते रहे। महिलाओं ने लोक मान्यता के अनुसार श्रृंगार किए। हाथों में मेंहदी रचाई और लोकगीत गाए गए। घरों में पूजन-अनुष्ठान का क्रम देरशाम तक चलता रहा। मेजरगंज स्थित काली माई थान, शाहगंज स्थित काली माता मंदिर, राहुल चौराहा स्थित शिवमंदिर समेत विभिन्न स्थानों पर श्रद्धालु महिलाएं जुटीं और भजन-कीर्तन का दौर चला। दोस्तपुर संवादसूत्र के अनुसार, आजमगढ़ सीमा पर स्थित बेलवाई कस्बे के सिद्ध शिवमंदिर में भक्तों की भीड़ रही। कजरी तीज के अवसर पर जलाभिषेक के लिए लोगों के लिए कतार लगी रही। लम्भुआ संवादसूत्र के अनुसार, जनवारीनाथ धाम में भक्तों का आना-जाना सुबह से ही शुरू हो गया। श्रद्धालुओं ने परिसर में जलाभिषेक के बाद विविध कर्मकांड भी पूरे किए।

भंडारा संपन्न

मोतिगरपुर : स्थानीय बाजार में चौराहे के बगल स्थित बाग में बोलबम भंडारे का आयोजन किया गया। मोतिगरपुर कांवड़िया संघ द्वारा पिछले कई वर्षों से यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। बुधवार को चार बजे से प्रसाद वितरण का कार्यक्रम शुरू हुआ जो रात करीब 11 बजे तक चला। बसंतलाल, अजय अग्रहरि, संदीप अग्रहरि, अजय गुप्ता, संतोष सेठ, संतोष सेठ आदि लोग देर रात तक व्यवस्था में लगे रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप