सुलतानपुर : कोरोना संक्रमण का प्रकोप फिर से कई राज्यों में तेजी से बढ़ रहा है। तीसरी लहर की आशंका भी प्रबल हो गई हैं। शासन स्तर पर कोरोना प्रोटोकाल जारी किया गया है। संक्रमण की रोकथाम के लिए साप्ताहिक बंदी को भी सख्ती से लागू करने के दावे किए जा रहे हैं। लेकिन, इन सब के बावजूद बाजार खुल रहे हैं। प्रतिष्ठानों पर मास्क लगाए बगैर लोग शारीरिक दूरी के नियम का भी पालन नहीं कर रहे हैं। दुकानदार भी बेपरवाह हैं। सैनिटाइजर और साबुन आदि की व्यवस्था भी अब नहीं दिखती है। बावजूद इसके आमजन के साथ प्रशासन और पुलिस चेत नहीं रहे हैं। दरअसल, लगातार बरती जा रही लापरवाही कहीं संक्रमण के प्रसार का कारण न बन जाए।

खुली रहीं दुकानें, सज रहे बाजार :

कोरोना संक्रमण की चपेट में आने से जिले में डेढ़ सौ से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। बंदिशों व परेशानियों को झेलने के बाद भी लोगों के मन से खौफ गायब है। शासन द्वारा जारी साप्ताहिक बंदी में भी आम दिनों की तरह दुकानें खुल रही हैं। साथ ही सड़कों के किनारे पटरी बाजार सज रहा है। यही नहीं खरीददार भी प्रोटोकाल का उल्लंघन कर बाजार में पहुंचने से गुरेज नहीं कर रहे हैं।

रास नहीं आ रही शारीरिक दूरी :

संक्रमण से बेफिक्र लोगों को शारीरिक दूरी रास नहीं आ रही है। सरकारी कार्यालय, अस्पताल या फिर अन्य सार्वजनिक स्थानों पर इसका अनुपालन नहीं किया जा रहा है। हर जगह खचाखच भीड़ रहती है। दुकानदार हो या ग्राहक हर कोई लापरवाह बना हुआ है। अभियान चलाकर मास्क पहनने को बाध्य करने की प्रशासनिक कोशिशें भी अब नदारद हैं। हालात ये हैं कि कुछ ही चेहरों पर मास्क नजर आता है।

ढिलाई का नतीजा है लापरवाही :

पहली व दूसरी लहर में चुस्त रहा प्रशासन व पुलिस अब शिथिलता बरतती दिख रही है। बिना मास्क व सार्वजनिक स्थानों पर थूकने पर होने वाले चालान अब नहीं के बराबर हो गए हैं।

लापरवाही पर होगी कार्रवाई :

एसपी डा. विपिन कुमार मिश्र ने बताया कि कोविड गाइड लाइन का अनुपालन नहीं करने वालों पर कार्रवाई की जाती है। सभी थाना व चौकी प्रभारियों को सख्ती बरतने के लिए निर्देशित कर दिया गया है।

Edited By: Jagran