सुलतानपुर, संवाद सूत्र। भारतीय जनता पार्टी जिला महामंत्री समेत तीन के विरुद्ध जानलेवा हमला समेत चार धाराओं में एफआइआर दर्ज किया गया है। सभी पर लोक निर्माण विभाग के ठेकेदार की पिटाई कर गाड़ी चढ़ाने का आरोप लगा है। लोक निर्माण विभाग के ठेकेदार का इलाज लखनऊ में चल रहा है। इस घटना से एक बार फिर सत्तादल के नेताओं द्वारा ठेकों में वर्चस्व स्थापित करने की कोशिश का राजफाश हुआ है। पुलिस का कहना है कि मामले की छानबीन की जा रही है। जल्द ही आरोपित गिरफ्त में होंगे।

लम्भुआ के तेरयें निवासी चंदन सिंह ने बताया कि पिता ओमप्रकाश सिंह ने लोक निर्माण विभाग का आनलाइन टेंडर डाला था। उनका टेंडर स्वीकृत भी हो गया था। कुड़वार के भंडरा परशुरामपुर निवासी शैलेन्द्र कुमार मिश्र व कोतवाली नगर के पंचरस्ता निवासी धर्मेन्द्र कुमार उर्फ बब्लू भी ठेकेदारी करते हैं। ये लोग पिता पर टेंडर वापस लेने का दबाव बना रहे थे।

मना करने पर 22 नवंबर को कामतागंज से वापस घर लौटते समय रेलवे क्रासिंग के पास लात-घूंसों से उन्हें मारा-पीटा। चंदन का आरोप है कि बबलू ने कहा कि मैं भाजपा का जिला महामंत्री हूं, मुझसे बिना पूछे टेंडर लेने की हिम्मत कैसे हो गई। टेंडर वापस ले लो नहीं तो जान से खत्म कर देंगे। बकौल चंदन पिता घर आए और जब वह थाने जा रहे थे तो परसरामपुर डेयरी के पास उनके ऊपर स्कार्पियो चढ़ा दी गई।

इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए। तत्काल उनको सीएचसी पहुंचाया, जहां से चिकित्सकों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। हालत नाजुक होने के कारण ट्रामा सेंटर लखनऊ भेज दिया गया। लम्भुआ कोतवाली के प्रभारी शिवाकांत त्रिपाठी ने बताया कि एफआइआर दर्ज कर ली गई है। मेडिकल समेत अन्य साक्ष्यों के आधार पर विवेचना की जा रही है। जो भी तथ्य प्रकाश में आएंगे, उसके अनुरूप कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Vrinda Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट