सुलतानपुर : ब्लॉक मुख्यालय में 72 साल से छाया अंधेरा अब दूर होने की उम्मीद जाग उठी है। क्षेत्र को रोशनी से जगमग करने की कवायद शुरू कर दी गई है। प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के तहत बिजली की आपूर्ति के लिए खंभे लगाए जाने का काम तेजी से किया जा रहा है। यह देखकर क्षेत्र के लोगों में खुशी का माहौल है। अब इलाके में कायम रहने वाले अंधेरे और उसकी वजह से होने वाले अपराध पर भी अंकुश लगेगा। ब्लॉक मुख्यालय का शुरू हुआ विद्युतीकरण

सुलतानपुर-वाराणसी हाईवे के किनारे विद्युतीकरण न होने से सरकारी कार्यालयों को छोड़ कस्बे-मुहल्ले के लोग अभी तक बांस-बल्ली के सहारे बल्ब जला रहे थे, लेकिन अधिकांश जगहों पर अंधेरा ही रहता था। बुधवार को जब बाजार में खंभे गिराए जाने लगे तो लोगों को इंतजार की घड़ी खत्म होती दिखी। रोशनी की आस से उन्हें चेहरे चमक उठे।

36 खंभों से रोशन होगा दोमुंहा चौराहा

यहां की आबादी करीब पांच सौ है। थाना कोतवाली देहात, सीएचसी, खंड शिक्षाधिकारी, बाल विकास पुष्टाहार व राजस्व निरीक्षक कार्यालय के साथ ही संबंधित कॉलोनियां हैं। यहां पर पहले से ही विद्युतीकरण हो चुका है। सौभाग्य योजना से हाईवे के बभनगंवा नहर से पूरब सुनील शुक्ल के होटल तक तथा नहर की उत्तरी पटरी के दोनों मोहल्ले व संजय नगर तथा पखरौली रोड पर स्थित पुरवे में विद्युतीकरण का काम किया जाएगा। सड़क की दोनों पटरियों पर 36 खंभों को लगाने के सर्वे के बाद केबल से विद्युतीकरण कर नए कनेक्शन किए जाएंगे तथा पुराने कनेक्शन को खंभों से जोड़ा जाएगा। स्ट्रीट लाइट से रोशन होगा कस्बा -प्रधान प्रतिनिधि अभियाकलां राकेश दूबे ने बताया कि सड़क किनारे विद्युतीकरण होने से खंभों पर स्ट्रीट एलईडी लाइटें लगाकर रात में रोशनी की व्यवस्था की जाएगी।

Posted By: Jagran