सुलतानपुर : जल्द ही कलेक्ट्रेट की बैरीकेडिग व जीआईसी, नगर कोतवाली की बाउंड्रीवाल ढहा दी जाएगी। मार्ग चौड़ीकरण में आने वाले सरकारी कार्यालय और आवास भी इसकी जद में आएंगे। पीडब्ल्यूडी ने हाइवे से मिलने वाले दो मार्गों के दोहरीकरण का कार्य जल्द पूरा करने के लिए रास्ते में आ रही बाधा का हटाने का फैसला लिया है।

अमहट से गोलाघाट व बस स्टेशन से पयागीपुर तक चौड़ी हो रही सड़क में मानक को दरकिनार कर 16 मीटर चौड़ाई बढ़ाने के लिए एक ही दिशा में सड़क की खोदाई की गई। इसमें कई सरकारी कार्यालय और अधिकारियों के आवास की तरफ चौड़ाई बढ़ाने को नजरंदाज किया गया। यह बात मीडिया के जरिए विभागीय अफसरों की जानकारी में आई तो सक्रियता बढ़ी और सड़क के मध्य से दोनों ओर बराबर किए जाने के लिए प्रयास शुरू हुए हैं। फिलहाल नगर कोतवाली व जीआईसी की बाउंड्रीवाल, कोआपरेटिव बैंक व कलेक्ट्रेट की बैरीकेडिग भी जद में आ रहे हैं।

डीएम आवास की बैरीकेडिग से शुरू हुआ अभियान : पीडब्ल्यूडी ने मंगलवार से ध्वस्तीकरण अभियान शुरू कर दिया। गोलाघाट से डीएम बंगले तक बाधा बनी बैरीकेडिग का ध्वस्तीकरण कार्य शुरू कर दिया गया। उम्मीद है कि जल्द ही अन्य अवरोध भी हटा दिए जाएंगे।

मिट्टी डाल गोपालदास पुल की मरम्मत : ब्रिटिशकालीन पुल जो बीते दिनों धंस रहा था, उसे दुरुस्त करने का काम शुरू किया गया है। एक सप्ताह पूर्व पुल की पूर्वी सीमा पर जलजमाव के चलते इसके लिए खतरा उत्पन्न हो गया था। मिट्टी और गिट्टी डालकर इसे समतल किया गया है। बुधवार को तारकोल लेपन के साथ पुल पर जलबहाव ठीक करने के लिए इसे समतल किया गया। प्रभारी अधीक्षण अभियंता रविकांत रजक ने कहा कि सड़कों की प्रस्तावित चौड़ाई पूरी करने के लिए जहां आवश्यक है वहां स्थाई निर्माण को ध्वस्त किया जाएगा। विभाग शीघ्र ही पुल को ध्वस्त कर इसके स्थान पर चौदह मीटर चौड़े नए पुल का निर्माण शुरू करेगा।

Edited By: Jagran