संजय तिवारी, सुलतानपुर

दिल्ली के सीएम अरविद केजरीवाल के शहर में आगमन को लेकर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता काफी उत्साहित थे, उनके लोनिवि निरीक्षण भवन पहुंचने के बाद वह छावनी में तब्दील हो गया। अपने नेता से न मिलने पाने के चलते कार्यकर्ता आक्रोशित होने लगे। इसकी सूचना मिलने पर केजरीवाल उन्हें अंदर बुलाकर मिलें।

सुरक्षा का मामला बता कर दिया था गेस्ट हाउस गेट बंद

पहले सुरक्षा का हवाला देकर गेस्ट हाउस के दोनों गेट बंद कर दिए गए। गेट पर पहुंचे पार्टी कार्यकताओं का हुजूम अपने नेता से मिलने के लिए जद्दोजहद करने लगा। इस दौरान अंदर प्रवेश उसी को मिला जिसका बुलावा आया। जब कुछ गैर जनपद के लोगों को गेट के अंदर जाने की इजाजत मिली तो कार्यकर्ता गुस्से में आ गए। पार्टी जिलाध्यक्ष खोजे जाने लगे। अंदर रहने वालों की सूची में उनका नाम भी नहीं था। प्रदेश सचिव, जिला महा सचिव सहित कई पदाधिकारी यह कहते नजर आ रहे थे कि जब अपने घर में पार्टी मुखिया से नहीं मिल पाएंगे तो फिर कहां मिलेंगे। हर कोई अपने करीबी नेताओं को मोबाइल से संपर्क कर सीएम अरविंद केजरीवाल के पास पहुंचने की जुगत में लगाता दिखा। जब बाहरी हलचल की खबर अंदर पहुंची तो करीब सवा घंटे बाद कुछ लोगों को गेट के भीतर जाने की अनुमति मिली। जिलाध्यक्ष भी फोन करके बुलवाए गए।

सांसद ने कराया परिचय

सांसद संजय सिंह ने सबका परिचय कराया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने आगामी विस चुनाव में बेहतर नतीजा लाने के लिए प्रेरित किया और लोगों से न मिल पाने की सफाई दी।

Edited By: Jagran