भदैंया (सुलतानपुर) : कोतवाली देहात के बरसड़ा गांव में 8 नवंबर को रंजिश में एक पक्ष ने पिता-पुत्र पर लाठी-डंडे से पीटकर दोनों को मरणासन्न कर दिया था। फाय¨रग में गोली पिता को लगी थी। घायल पिता-पुत्र का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा था। शुक्रवार की रात पिता की इलाज के दौरान मौत हो गई।

बरसड़ा गांव में दीपावली के दूसरे दिन विश्वनाथ तिवारी (55) पुत्र रामफेर तिवारी के घर में घुसकर विपक्षी रामजीत तिवारी उर्फ राजन अपने साथियों के साथ हमला बोल दिया था। विश्वनाथ तिवारी तथा उनके पुत्र बृजेश तिवारी (27) गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे। इस दौरान हुई फाय¨रग में एक गोली विश्वनाथ को लग गई थी । दोनों का इलाज जिला चिकित्सालय में चल रहा था। गांव में तनाव व्याप्त है।

गंभीर मामले में मारपीट का दर्ज था मुकदमा : कोतवाली देहात पुलिस ने फाय¨रग होने व हाथ टूटने के बाद भी जानलेवा हमले का मामला दर्ज नहीं किया था। मौत की घटना के बाद कोतवाली देहात के थानाध्यक्ष मनबोध तिवारी ने गांव में सुरक्षा के मद्देनजर उपनिरीक्षक व पुलिस की तैनाती की है। संबंधित मुकदमे में और धारा बढ़ाने की बात कही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप