सुलतानपुर: गोसाईंगंज थानाक्षेत्र के महमूदपुर में दस लाख की मांग न पूरी होने पर एक विवाहिता को जलाकर मारने का मामला सामने आया है। मायके वालों के इस आरोप पर पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ दहेज हत्या का मामला दर्जकर जांच शुरू कर दी है।

मोतिगरपुर थानाक्षेत्र के रूपिनपुर निवासी विद्या सिंह ने अपनी बेटी रूबी सिंह की शादी महमूदपुर निवासी सूर्य प्रकाश सिंह पुत्र राम बहादुर के साथ की थी। आरोप है कि शादी के बाद से ही सूर्यप्रकाश दहेज के रूप में दस लाख रुपये देने या फिर दुकान अपने नाम करने के लिए दबाव बनाने लगा। विरोध करने पर उसे मारपीटा जाता था। उनकी बेटी रूबी गर्भवती थी। 10 सितंबर की रात पति, ससुर, सास उर्मिला व ननद सुधा सिंह ने मिलकर रूबी की पिटाई कर दी और फिर आग के हवाले कर दिया। चुपके से सभी लोग उसे इलाज के लिए लखनऊ लेकर चले गए, जहां उसकी मौत हो गई। क्षेत्राधिकारी दलबीर सिंह ने बताया कि सूर्य प्रकाश दिल्ली में रहकर प्राइवेट नौकरी करता है। इन दिनों वह घर पर आया था। रूबी उसके साथ दिल्ली जाना चाहती थी। घटनावाले दिन इन्हीं बातों को लेकर पति-पत्नी के बीच विवाद हुआ था। इसके बाद रूबी ने मिट्टी का तेल छिड़ककर खुद ही आग लगा ली।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस