सुलतानपुर : नौ अगस्त प्रस्तावित बीएड प्रवेश परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र बिना सैनिटाइज हुए परीक्षा कक्ष में प्रवेश नहीं कर सकेंगे। इसके लिए छात्रों को सैनिटाइजर व मास्क वगैरह साथ लाने के लिए निर्देशित किया गया है। साथ ही परीक्षा केंद्रों पर सैनिटाइजर, साबुन आदि की व्यवस्था के लिए लखनऊ विश्वविद्यालय की तरफ से एक लाख 11 हजार रुपये दिए गए हैं। नकल विहीन परीक्षा के लिए आन डिमांड सीसी कैमरे की व्यवस्था की गई है।

इस बार जिले के 11 सेंटर पर चार हजार हजार छात्र बीएड परीक्षा में शामिल हो रहे हैं। गनपत सहाय पीजी कॉलेज पयागीपुर, गनपत सहाय महिला पीजी कॉलेज सीताकुंड, राणा प्रताप पीजी कॉलेज व केएनआइ में परीक्षा देने के लिए पांच-पांच सौ छात्रों की व्यवस्था की गई है। मधुसूदन इंटर कॉलेज आदर्श नगर, महत्मा गांधी स्मारक इंटर कॉलेज सिविल लाइन, केशकुमारी जीजीआइसी, हलीम मेमोरियल व शहर के जीआइसी में तीन-तीन सौ छात्र परीक्षा देंगे। महाराणा प्रताप इंटर कॉलेज उतुरी में 148 छात्रों की सिटिग व्यवस्था की जा रही है। अभ्यर्थियों को एक घंटे पहले ही सेंटर पर उपस्थित होना अनिवार्य किया गया है। जिससे कोरोना संक्रमण से बचने के लिए वे ठीक से सैनिटाइज हो सकें। बीएड परीक्षा के एडिशनल कोऑर्डिनेटर बनाए गए केएनआइपीएसएस के प्राचार्य डॉ राधेश्याम सिंह ने बताया कि परीक्षा आयोजित करा रहे लखनऊ विश्वविद्यालय प्रशासन की तरफ से प्रति सेंटर दस हजार रुपये सैनिटाइजर व साबुन आदि के लिए दिए गए हैं। यह परीक्षा सीसीटीवी की निगरानी में आयोजित की जाएगी, जहां पर सीसी कैमरे नहीं लगे हैं, लखनऊ विश्वविद्यालय की तरफ से उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस