सुलतानपुर : चयनित हुए 602 शिक्षकों के वांछित प्रपत्रों की जांच के बाद सही पाए जाने वाले इनमें से कुल 494 अध्यापकों ने कार्यभार ग्रहण कर लिया। वहीं बीएसए दफ्तर में शिक्षक बने कई शिक्षामित्रों का रलीविग लेटर भी जमा कराया गया। नियुक्ति पाने वाले शिक्षकों को फिटनेस प्रमाण पत्र जमा करना अनिवार्य किया गया था। इसे पाने के लिए शनिवार को काफी जद्दोजहद करनी पड़ी।

जरूरी किए गए फिटनेस प्रमाण पत्र बनवाने के लिए शनिवार की सुबह से ही शिक्षकों की भीड़ जिला अस्पताल व सीएमओ दफ्तर के सामने जमा होने लगी। कोरोना महामारी से बेखबर इन शिक्षकों में शारीरिक दूरी के अनुपालन को लेकर लापरवाही देखी गई। अचानक भीड़ की सूचना मिलते ही स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया। सीएमओ डॉ. सीबीएन त्रिपाठी के निर्देश पर अतिरिक्त काउंटर की व्यवस्था कर जरूरतमंदों के प्रमाण पत्र बनाने का काम शुरू किया गया। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए कोतवाली नगर के पुलिसकर्मियों का भी सहारा लेना पड़ा। प्रमाण पत्र बनवाने पहुंचे चिकित्सकों पर काम के प्रति लापरवाही बरतने का भी आरोप लगाया गया। इस दौरान दलालों की संक्रियता भी देखी गई, लेकिन पुलिस की मौजूदगी के बीच बिचौलियों की एक न चली। डीसी अविनाश यादव ने बताया कि बचे हुए शिक्षक अगले कार्य दिवस पर बीएसए दफ्तर आकर नियुक्ति संबंधी प्रक्रिया पूरी कर सकते है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस