जासं, अनपरा (सोनभद्र) : स्थानीय आदिवासी महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए एनसीएल की सीएसआर द्वारा संचालित पोल्ट्री फार्मिंग प्रोजेक्ट में गत चार वर्षों के दौरान पांच सौ महिलाएं जुड़ चुकी हैं। इन महिलाओं ने वित्तीय वर्ष 2018-19 में सम्मिलित रूप से लगभग 10 करोड़ रुपए का कारोबार कर एक करोड़ रुपए का मुनाफा कमाया। एनसीएल मुख्यालय में इस प्रोजेक्ट के तहत संचालित होने वाली 'सिगरौली वूमन स्माल होल्डर्स पोल्ट्री प्रोड्यूसर्स कंपनी लिमिटेड' की वार्षिक साधारण सभा में उपलब्धियों की घोषणा की गई।

सिगरौली जिले के कलेक्टर केवीएस चौधरी, सीईओ ऋतुराज और एनसीएल के महाप्रबंधक सीएसआर आत्मेश्वर पाठक ने आम सभा में आदिवासी महिलाओं की हौसला अफजाई की। कलेक्टर ने बड़ी संख्या में ग्रामीण आदिवासी महिलाओं को आर्थिक रुप से आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनाने में सहयोग देने के लिए एनसीएल का आभार जताया। उन्होंने इस प्रोजेक्ट से जुड़ी महिलाओं को महिला सशक्तीकरण की मिसाल बताते हुए उन्हें अपने कारोबार को और विस्तार से करने के प्रति प्रोत्साहित किया। जिला पंचायत सीईओ ऋतुराज ने सभी महिलाओं का उत्साहव‌र्द्धन किया। एनसीएल के महाप्रबंधक सीएसआर आत्मेश्वर पाठक ने कहा कि आदिवासी महिलाओं की हो रही उन्नति पर एनसीएल गौरवान्वित है। उन्होंने और महिलाओं को जोड़ने तथा उनके मुर्गी पालन में सहयोग व सुविधा देने का आश्वासन दिया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप